Breaking News

> > >

कहीं फूंका विद्युत ट्रांसफार्मर तो कहीं अघोषित कटौती से बिलबिला रहे लोग



रेवती (बलिया) : स्थानीय थाना के समीप स्थित 400 केवी का ट्रांसफार्मर गत बुधवार की रात से जल गया है। इस ट्रांसफार्मर से बड़ी बाजार , गुदरी बाजार ,काली माता रोड रोड सहित कई वार्डो में विद्युत कि आपूर्ति होती है। एक तो नगर की विद्युत आपूर्ति कुछ सप्ताह से बद से बदतर हो चुकी है ।
बारिश के चलते ब्रेक डाउन, जम्फर गलने , तार टूटने की बार बार की घटना से नगर क्षेत्र की जनता को अघोषित कटौती के चलते रात में घंटा दो घंटा चैन की नींद सोना हराम हो गया है ।
नगर के समाजसेवी अतुल कुमार पांडेय उर्फ बबलू ने बताया कि जल्द उक्त ट्रांसफार्मर को नहीं बदला गया तो लोड ज्यादा बढ़ने पर नगर के अन्य ट्रांसफार्मरों के जलने का अंदेशा बना हुआ है । श्री पांडेय ने जिला प्रशासन व संबंधित विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों का ध्यान इस तरफ आकर्षित करते उक्त ट्रांसफार्मर को अविलंब बदले जाने की मांग की है ।


*अघोषित विजली कटौती से लोगों का जीना हुआ हराम*



सहतवार(बलिया)। उमस भरी गर्मी में स्थानीय नगर पंचायत सहित ग्रामीण क्षेत्रों में आये दिन अघोषित बिजली की कटौती से लोगों का जीना हराम हो गया है। बिजली कब आती है कब चली जाती है कहा नहीं जा सकता। कोरोना महामारी में प्रशासन द्वारा लोगों को घरों मे रहने का हिदायत दिया जा रहा है ऐसी हालात में लोग कैसे घरों में रहें समझ में नहीं आ रहा है। अगर बिजली की जल्द कोई व्यवस्था नहीं होती है तो लोग इस भयंकर महामारी में भी सड़क पर उतरने के लिए बाध्य हो जायेगे। जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

    सरकार विद्युत व्यवस्था सुधारने के लिए प्राइवेट में ठीका दे रही है। ताकि बिजली आपूर्ति में सुधार हो,लेकिन बिजली की व्यवस्था सुधरने के बजाय  बद से  बदतर होती जा रही है।  आलम यह है कि सहतवार विद्युत उपकेंद्र से विद्युत सप्लाई की दशा दयनीय हो चुका है। नगर पंचायत सहित आस पास के गाँवों में जर्जर तारों के सहारे लाइट चलाई जा रही हैं ।  जिससे आये दिन तार टूटता रहता है। स्थिति यह हो गयी है कि पहले एल टी का तार टूटता था जो जर्जर है। अब एच टी का तार भी टूटने लगा क्योकि ये भी दयनीय अवस्था में है । पिछले दिनों से 33के वी ए का तार भी कई दिनों टूटा, यदि फीडर पर लाइट आ जाती है तो लोकल लाइनमैन लाईन कटवा कर काम करते है। पूछने पर कहते है की तार टूट गया है अब सवाल ये है की इतना तार टूटता है तो विभाग अनभिज्ञ क्यों है।तारों को बदलवता क्यों नहीं, इन सब परेशानी की वजह से आम जनता को इस कोरोना जैसी महामारी और भीषण गर्मी मे बिना बिजली रहने को मजबूरी है।लोगों ने प्रशासन से जल्द से जल्द बिजली व्यवस्था को सुधारने की अपील की है।



रिपोर्ट- पुनीत केशरी, जेपी सिंह

No comments