Breaking News

सराहनीय पहल :कोरोना संक्रमित मरीजों के परिजनों ने मोहल्ले को कराया सैनिटाइज




मनियर ,बलिया ।आदर्श नगर पंचायत मनियर के वार्ड नंबर 1 में करीब 10 लोगों का कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बावजूद कोरोना के विरुद्ध जंग में प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद नहीं है। कोरोना  मरीजों के यहां विटामिन एवं पैरासिटामोल की गोली तो दी गई है लेकिन उनके घरों को सेनीटाइज नहीं कराया जा रहा है। कोरोना मरीजों को भाग्य भरोसे छोड़ दिया गया है। कोरोना मरीजों के परिजन अपने धन से सैनिटाइजर मंगाकर जिस रुम में कोरोना मरीज है उसे सैनिटाइज करा रहे हैं। रूम को सेनीटाइज कराने में काफी धन की आवश्यकता होती है। 

एक पूर्व विधायक के अनुसार अगर एक रूम का एक बार सेनीटाइज कराना हो तो कम से कम एक हजार रुपये का सैनिटाइजर लगेगा। इस परिस्थिति में जहां करीब एक दर्जन मरीज हो वहां नगर पंचायत द्वारा एक बार सामान्य तरीके से नगर पंचायत को सैनिटाइज कराया गया है ऐसे में कोरोना से जंग कैसे जीता जायेगा? मरीज पीड़ितों के परिजनों का कहना है कि हमारे मरीज को सिर्फ विटामिन एवं पैरासिटामोल की गोली उपलब्ध कराई गई है । जिस मुहल्ले में कोरोना मरीज हैं वहां विशेष रूप से पूरे मुहल्ले को सैनिटाइज कराने की आवश्यकता है। 

वहीं मनियर थाने पर एक उपनिरीक्षक, दो कांस्टेबल एक पीआरडी का जवान व एक चौकीदार कोरोना पॉजिटिव मिला तो नगर पंचायत की बाहन से पूरे थाना परिसर को सैनिटाइज किया गया। सरकारी विभाग एवं आम पब्लिक के बीच इस प्रकार का भेद क्यों है? इस संदर्भ में नगर पंचायत के ई ओ राम बदन यादव से संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन वह फोन नहीं उठाए। आखिर कैसे जीता जाएगा कोरोना से जंग? यह समझ में नहीं आ रहा है।



रिपोर्ट राम मिलन तिवारी

No comments