Breaking News

निस्तारण ऐसा हो कि शिकायतकर्ता भी हो जाए संतुष्ट: जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही




बलिया: कोरोना महामारी की शुरुआत होने के बाद बन्द पड़े सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन शुरू हो गया। मंगलवार को सभी तहसीलों में यह आयोजन हुआ, जिसमें जनता की फरियाद सुनी गई। जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने बलिया सदर तहसील में, तो सीडीओ विपिन कुमार जैन ने रसड़ा तहसील के जनसुनवाई की। इसी तरह सभी एसडीएम अपनी-अपनी तहसील में समस्याएं सुनकर सम्बन्धित अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिए। 

सदर तहसील में आए हर एक फरियादी के शिकायती प्रार्थना पत्र को जिलाधिकारी ने लिया। इस दौरान कुल 83 मामले आए, जिसमें  का छह का मौके पर ही निस्तारण करा दिया। शेष शिकायतों को सम्बन्धित अधिकारियों को सौंपते हुए सख्त हिदायत दी कि इन सभी समस्याओं का समाधान समयान्तर्गत व गुणवत्तापरक होना चाहिए। इस दौरान तहसील क्षेत्र के लोगों ने राशन, पेंशन, अवैध कब्जे व अन्य तरह-तरह की शिकायती प्रार्थना पत्र दिया। जिलाधिकारी ने अधिकारियों से कहा, कोरोना के खिलाफ चल रही जंग के बीच जनता की समस्याओं पर भी ध्यान देना है। जो भी प्रार्थना पत्र आए उसका त्वरित निस्तारण ऐसा हो कि शिकायतकर्ता पूरी तरह संतुष्ट हो जाए। एसपी देवेन्द्र नाथ ने पुलिस से जुड़ी समस्या को सुना और मातहतों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। इस अवसर पर एसडीएम सदर राजेश यादव, सीओ अरुण मिश्र, सीएमओ डॉ जितेंद्र पाल, तहसीलदार गुलाब चंद्रा, नायब तहसीलदार जया सिंह व अजय सिंह समेत अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

*बढ़िया काम करने वाले पांच लेखपालों के बारे में पूछा*

सम्पूर्ण समाधान दिवस के बाद जिलाधिकारी श्री शाही ने तहसील सदर में सबसे बढ़िया काम करने वाले पांच लेखपालों का नाम पूछा। तहसीलदार ने पांच नाम गिनाए तो उनके बारे में अन्य जानकारी ली। उन्होंने संकेत दिया कि बढ़िया काम करने वाले लेखपालों का उत्साहवर्धन के लिए कोई पहल की जाएगी, ताकि अन्य लेखपाल भी उनसे प्रेरित होकर अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन और बेहतर ढंग से कर सकें।



*पीएम आवास योजना के 145 लाभार्थियों के खिलाफ जारी होगी आरसी*

— *सीडीओ विपिन जैन ने सम्बन्धित एसडीएम को पत्र लिख कार्रवाई के दिए निर्देश*

— *चेताया, अपात्र स्वयं हो जाएं बाहर वरना धन वसूली के साथ हो सकती है और बड़ी कार्रवाई*

बलिया: मुख्य विकास अधिकारी विपिन कुमार जैन ने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के 145 लाभार्थियों के खिलाफ धन वसूली की कार्यवाही में तेजी लाने का निर्देश दिया है। उन्होंने सभी एसडीएम को इसके लिए रिमाइंडर भेजा है। दरअसल, आवास की किस्त लेने के बाद भी निर्माण नहीं कराने वालों के खिलाफ निवर्तमान सीडीओ ने आरसी जारी करने के लिए एसडीएम को पत्र भेजा था। अब उसी कार्रवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा है कि अगर कोई अपात्र है तो वह स्वयं बाहर हो जाएं, वरना धन वसूली के साथ और भी बड़ी कार्रवाई हो सकती हैं। माना रहा है कि ऐसी कार्रवाई शुरू होने से अब आवास निर्माण में काफी तेजी आएगी। साथ ही सरकार की ओर से धनराशि मिलने के बाद​ लाभार्थी भी निर्माण में समयसीमा का भी ख्याल रखेंगे।

प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा के दौरान सीडीओ श्री जैन के संज्ञान में आया ​कि विगत चार वर्षों के अंदर स्वीकृत प्रधानमंत्री आवास योजना के बहुत सारे ऐसे लाभार्थी हैं जिन्हें आवास के लिए स्वीकृत धनराशि की किस्त तो मिल गई, पर निर्माण कार्य नहीं कराया। इसके लिए कुछ पूर्व सीडीओ के माध्यम से आरसी जारी करने की कार्यवाही के लिए एसडीएम को पत्र भी भेजा गया, लेकिन अब तक कोई खास कार्रवाई नहीं हुई। इस पर सीडीओ श्री जैन ने एक बार फिर सभी एसडीएम को रिमाइंडर भेज कार्रवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया है।


रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments