Breaking News

साहित्य सदन पुस्तकालय का आठवां व युवा संगठन के पंद्रहवा स्थापना दिवस के अवसर पर गोष्ठी का आयोजन




मनियर, बलिया । कस्बा स्थित झुमक बाबा के मठ के प्रागण मे सोमवार को साहित्य सदन पुस्तकालय का आठवां व युवा संगठन के पंद्रहवा स्थापना दिवस के अवसर पर युवा संगठन के तत्वाधान मे वर्तमान समय मे शिक्षा का स्वरूप पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसके मुख्य अतिथी पियूसीयल के जिलाधयक्ष व अधिवक्ता रणजीत सिह , टाउन इंटर कालेज के प्रधानाचार्य अखिलेश सिन्हा व मनोरंजन सिहं ने संयुकत रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरूआत करायी । इस दौरान  वक्ताओ ने सरकार की नयी शिक्षा निती प्णाली पर नराजगी जाहीर करते हुए कहा कि आन लाईन शिक्षा से गरीब के बच्चो का कैसे उधार होगा ।जिन बच्चो के हाथो मे मोबाइल नही है उनके नन्हे मुन्ने बच्चे कैसे शिक्षा ग्रहण कर सकते है ।उनहोने शिक्षा की निती बदलनेपर जोर दिया कहाकि शिक्षा अनिवार्य कर दिया जाय निजीकरण नही , शिक्षा सेवा के  भाव से होना चाहिए सेक्टर व कार्पोरेट नही। शिक्षा को व्यवसाय से नही देखा जाय  ।शिक्षा का स्वरूप  समय के हिसाब से समय समय पर जरूर बदलना चाहिए लेकिन कार्पोरेट घराने के लोग शिक्षा का खेल विगाड रहे है अपनी मनमानी  लोगो को रखकर  शिक्षा पर डाका डालने का काम कर रहे है सरकार मुक दर्शक बनी हुई है । कार्यक्म के दौर निबन्ध प्रतियोगिता व पोस्टर प्रतियोगिता मे अब्बल आये छात्रो को पुरस्कृत किया गया। इस दौरान केशव सिह ,अधिवता  अशोक सिह , डा० जगदीश प्रसाद, प्रभु उपाध्याय, सलाउदीन ,अमृत कुमार  युवा नेता गोपाल जी, युवराज सिह, आचल सिह आदि लोगो ने विचार रखा ।कार्यक्रम की अध्यक्षता अवकाश प्राप्त प्रचार्य उदय बहादुर सिह  संचालन आशुतोष कुमार ने किया ।


राममिलन तिवारी



No comments