Breaking News

> > >

भाजपा युवा मोर्चा के महासचिव समय तीन की गोली मारकर की हत्या

 



श्रीनगर।  घाटी में आतंकवादी लगातार बीजेपी नेताओं को निशाना बना रहे हैं। गुरुवार रात कुलगाम में आतंकियों ने तीन बीजेपी नेताओं की गोलीमार कर हत्या कर दी। घटना में मारे गए नेताओं में भाजपा युवा मोर्चा के महासचिव फिदा हुसैन, उनके साथ कार्यकर्ता उमर राशिद बेग और उमर रमजान हाजम शामिल हैं। हमले के बाद पूरे इलाके में सनसनी मच गई है। पुलिस और सेना ने पूरे इलाके को घेर कर सर्च आपरेशन शुरू कर दिया है।

बीजेपी युवा मोर्चा के महासचिव फिदा हुसैन अपने दो साथियों उमर रमजान और हारून बेग के साथ घर की तरफ जा रहा था। रास्ते में वाईके पोरा इलाके में घात लगाकर बैठे आतंकियों ने उन पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। तीनों लहुलुहान होकर मौके पर ही गिर पड़े। आतंकी मौका पाकर भागने में सफल रहे। अचानक गोलीबारी की आवाज सुनकर लोग मौके पर पहुंचे। मौके पर पहुंची पुलिस ने बीजेपी नेताओं को अस्‍पताल में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान तीनों की मौत हो गई।

आतंकी हमले की जिम्मेदारी द रजिस्टेंस फ्रंट (TRF) नाम के संगठन ने ली है। ये लश्कर-ए-तैयबा का सहयोगी संगठन बताया जाता है। बांदीपोरा में भाजपा नेता वसीम बारी की हत्या में भी इसी संगठन का नाम सामने आया था। फिदा हुसैन काजीगुंड के रहने वाले हैं। हुसैन पर तब हमला किया गया, जब वह कार्यकर्ताओं के साथ घर की ओर जा रहे थे। पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती और पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर हमले की निंदा की है।

इससे पहले सात अक्टूबर को गांदरबल इलाके में आतंकियों ने बीजेपी नेता गुलाम कादिर के घर पर हमला किया था। नेता तो बच गए थे, लेकिन उनका पीएसओ अल्ताफ हुसैन शहीद हो गया था। एक आतंकी भी मुठभेड़ में मारा गया था। इससे पहले दस अगस्त को बडगाम में बीजेपी नेता अब्दुल हमीद नजर की घर के बाहर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सात अगस्त को आतंकियों ने काजीकुंड इलाके में बीजेपी के सरपंच सज्जाद अहमद पर हमला करके हत्या कर दी थी। आठ जुलाई को आतंकियों ने बांडीपोरा में बीजेपी नेता वसीम बारी, उनके पिता और भाई की हत्या कर दी थी।


डेस्क

No comments