Breaking News

जानें बलिया में किसने किया 'मिशन शक्ति नारी सुरक्षा-नारी सम्मान' अभियान का शुभारंभ

 



बलिया: 'मिशन शक्ति नारी सुरक्षा-नारी सम्मान' अभियान का शुभारंभ बहुउद्देशीय सभागार परिसर से किया गया। इस अवसर पर वहां एक कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसमें महिला कल्याण विभाग, आंगनवाड़ी विभाग की महिला कर्मी व बेसिक शिक्षिकाएं आदि शामिल हुईं। कार्यक्रम की शुरुआत जिलाधिकारी एसपी शाही व शासन की ओर से आईं नोडल अधिकारी एडीएम अमेठी वंदिता श्रीवास्तव ने मां दुर्गा व सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इसके बाद नारी सुरक्षा व उन्हें आत्मनिर्भर बनने के तरीकों पर चर्चा हुई।


जिलाधिकारी ने कहा, नवरात्रि के अवसर पर इस कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ है। इसका मुख्य उद्देश्य है, महिलाओं को सुरक्षा, सम्मान, स्वावलम्बन आदि के प्रति जागरूक करना। नवरात्रि के नौ दिनों में महिला सुरक्षा के लिए बनाए गए विभिन्न कानूनों की जानकारी दी जाएगी। प्रत्येक कार्यवाही को गंभीरता से संचालित कराने के लिए जिला कार्यक्रम अधिकारी व प्रोबेशन अधिकारी को कड़े निर्देश दिए। जिलाधिकारी श्री शाही ने कहा कि सुरक्षा व स्वावलंबन दोनों बातें काफी सोच समझकर जोड़ी गई है। इसके लिए शासन की तरफ से अनेक योजनाएं चल रही है। उसके प्रति हर किसी को जागरूक होना होगा। उन्होंने इस बात पर जोर देकर कहा कि महिला कल्याण विभाग की ओर से एक कमेटी बनाई जाए, जिसमें विभिन्न क्षेत्रों में आगे रहीं 100 महिलाओं को जोड़ा जाए। ऐसी महिलाओं को चिन्हित करने के लिए बेसिक व माध्यमिक शिक्षा व अन्य विभागों का भी सहयोग लिया जाए। ऐसी महिलाएं निश्चित रूप से रोल मॉडल का रूप बन सकती हैं। यह कमेटी बन जाए तो उनकी एक बैठक कर महिला शक्ति, सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन पर विशेष फोकस कर कुछ सकारात्मक पहल की जाए।



नोडल अधिकारी व अमेठी की एडीएम वंदिता श्रीवास्तव ने भी महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के प्रयासों पर प्रकाश डाला। उन्होंने महिला सुरक्षा के जुड़े अहम विन्दुओं को भी सबसे साझा किया।

कार्यक्रम में डिप्टी कलेक्टर सीमा पाण्डेय, सह विधि परिवीक्षा अधिकारी अर्चना दूबे, प्राथमिक शिक्षिका रंजना पांडेय, प्रतिमा उपाध्याय, अंजू, प्रोबेशन कार्यालय के जयप्रकाश, हरिकेश, शशिकांत तिवारी, विजयशंकर वर्मा समेत अन्य विभागो की महिलाएं मौजूद थीं। संचालन महिला कल्याण अधिकारी पूजा ने किया।




निकली जागरूकता रैली


कार्यक्रम के बाद बहुउद्देशीय सभागार परिसर से एक रैली निकली, जिसमें आंगनबाड़ी कार्यकत्री, महिला पुलिस की कुछ जवान व होमगार्ड, प्राथमिक शिक्षिकाएं व महिला कल्याण विभाग की महिलाएं शामिल हुईं। रैली को जिलाधिकारी व एडीएम अमेठी वंदिता श्रीवास्तव ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। रैली के माध्यम से महिला सुरक्षा व स्वावलम्बन के प्रति लोगों को जागरूक किया गया।



रिपोर्ट- धीरज सिंह

No comments