Breaking News

रविवार को दुकानें बंद कर व्यापारियों ने सप्ताहिक बंदी का किया समर्थन


बाँसडीह, बलिया । बाँसडीह के ब्यपारियो ने रविवार को अपनी अपनी दुकानें बंद कर सप्ताहिक बंदी का समर्थन किया।लोग चट्टी चौराहे पर चाय पान के लिये तरस गए।बाँसडीह के ब्यपारी साफ दो गुटों में बटे दिखाई दिए।पिछले मंगलवार को एक गुट ने दुकान बंद कराई तो दूसरा गट रविवार को अपनी अपनी दुकानें बंद रखी।स्टेट बैंक रोड, बांसडीह रेवती मार्ग की दुकानें, बाँसडीह अम्बेडकर तिराहे की दुकानें, बाँसडीह बलिया मार्ग की दुकानें बंद रही।फल ,चाट आदि के दुकानदार भी रविवार की बंदी का समर्थन किये और अपनी अपनी दुकानों को बन्द रखे।

पहले मंगलवार को बन्द करने का हुआ था आह्वान "
बताते चलें कि गत सप्ताह बाँसडीह बाजार को बन्द करने के लिए बैठक कर मंगलवार का दिन निश्चित किया गया था। और मंगलवार को बाजार भी कुछ हद तक बन्द भी रहा। लेकिन कचहरी इलाका सहित दुकानदारों ने  मंगलवार दिन का विरोध करते हुए उपजिलाधिकारी दुष्यंत कुमार मौर्य को पत्रक सौंपा था। पत्रक में जिक्र किया गया था कि बैंक सहित , अन्य कार्यालय खुले रहेंगे दुकानें बंद रहेंगी तो जनहित में उचित नही होगा। अतः रविवार का दिन बाजार बंद किया जाय अच्छा रहेगा।
" आपसी सामंजस्य स्थापित कर व्यापारीगण ने किया मिसाल कायम "
अक्सर राजनीति में मामले बिगड़ने लगते हैं। लेकिन बाँसडीह बाजार को कोरोना काल में एक दिवसीय बन्द करने से कहीं - कहीं चर्चा का विषय बन गया है। एक जिला प्रशासन की मदद के रूप में देखा जाय तो एक दिवसीय बन्द होने से कोरोना संक्रमण से राहत मिलेगी। तो दूसरी तरफ राजीनीतिक गलियारा में  यह भी चर्चा है कि इसमें कहीं से कोई राजनीति नही बल्कि जनहित का ध्यान में रखकर व्यापारीगण ने सराहनीय कार्य किया है।
ब्यपारियो अभिषेक मिश्रा, विक्की गुप्ता, रमेश वर्मा, चंदन चौरसिया, विपीन चौरसिया, के के पाण्डेय,गब्बर , आशीष गुप्ता, संतोष क्नॉजिया, सरल सिंह ,अवधेश गुप्ता, बंसत गुप्ता, सुनील वर्मा, दीनू सिंह, नमो नरायण सिंह, अजित गुप्ता, प्रमोद, कपूरी गुप्ता, विजय रौनियार, विजय मौर्य, मनोज गुप्ता आदि थे।

No comments