Breaking News

> > >

गन्ने के खेत में उगी 500 व 2000 के नोट की 'फसल'

 





लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में गन्ने के एक खेत में 500 और 2000 पड़े होने की सूचना से अफरा तफरी मच गई। गांव में यह खबर आग की तरह फैली और देखते ही देखते नोट लूटने के लिए होड़ मच गई। खबर पुलिस तक पहुंची, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने खेत में पड़े नोटों को कब्जे में ले लिया। इसके बाद ग्रामीणों के कब्जे से भी नोट बरामद कर लिया। पुलिस को करीब डेढ़ लाख रुपए के नोट मिले हैं। कोतवाली प्रभारी जय प्रकाश पाठक ने बताया कि पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है।

मामला कुशीनगर के हाटा कोतवाली क्षेत्र के मोहमदा सिकटिया गांव का है। जानकारी के मुताबिक, कुछ मजदूर खेत में गन्ना काटने गए थे। इस दौरान मजदूरों को नोट बिखरे पड़े मिले। गन्ने के खेत में 2000 और 500 के नोट पड़े होने की सूचना गांव में आग की तरह फैल गई। इसके बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण खेत में पहुंच गई और नोट लूटने लगे। इसी दौरान किसी ने खेत में नोट मिलने की सूचना पुलिस को दे दी। जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और खेत में पड़े नोटों को कब्जे में लिया। इसके बाद ग्रामीणों को बुलाकर उनसे भी लूटे गए नोटों को वापस लिया गया। पुलिस को डेढ़ लाख रुपए के नोट मिले हैं।

गन्ने का खेत हाटा कोतवाली क्षेत्र निवासी सीताराम का है। खेत में मजूदर गन्ना काटने गए थे। इस दौरान उन्हें फटे कपड़े से बंधी एक पोटली दिखी। मजदूरों ने पोटली को खोला तो उसमें नोट भरे हुए थे। इसके बाद वहां लूट मच गई। जानकारी लगते ही भारी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और नोट लूटने लगे।

ग्रामीणों का कहना है कि कुछ दिन पहले गांव के पास स्थित चौराहे पर किराने की दुकान में चोरी हुई थी। दुकान से लगभग 5 लाख रुपए चोरी हुए थे। माना जा रहा है कि चोरों ने ही गन्ने के खेत में रुपए छिपाए होंगे। इस मामले में कोतवाली प्रभारी जय प्रकाश पाठक ने कहा कि पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। इतने रुपए खेत में कहां से आए इसकी जांच करने के साथ ही रुपयों की पहचान भी कराई जा रही है। नोटों की भी जांच कराई जा रही है कि नोट असली हैं या नकली।



डेस्क

No comments