Breaking News

ब्लॉक प्रमुख निर्भीक नारायण सिंह उर्फ मानिक जी ने युवा पीढ़ी को दारू की चपेट में आने पर जताई चिंता

 


मनियर, बलिया । महात्मा गांधी ने शराब को देश के लिए घातक बताते हुए पुरजोर विरोध किया था । नशा मुक्त भारत गांधी जी का एक सपना था लेकिन आज की आधुनिक पाश्चात्य सभ्यता का अनुकरण करते हुए लोग दारू को सामाजिक प्रतिष्ठा बना लिए हैं । आज के दौर में दारु एक फैशन बनता जा रहा है जिसके कारण युवा पीढ़ी भी दारू की चपेट में आ रही है।उक्त बाते विकासखंड मनियर के 27 वर्षों तक ब्लॉक प्रमुख रहे वयोवृद्ध कांग्रेसी नेता निर्भीक नारायण सिंह उर्फ मानिक जी ने क्षेत्र में बिक रही कच्ची दारू पर गहरा दुख जताते हुए इसके पीछे सीधे-सीधे सरकार पर आरोप मढ़ा ।कहा कि अबैध दारू का पैसा उच्च पदों पर आसीन पदाधिकारियों तक जाती है  अगर सरकार यह घोषणा कर दे कि जिस थाना क्षेत्र में अवैध दारू की भट्ठियां संचालित मिलेगी उस थानाध्यक्ष  के ऊपर कठोर कार्रवाई की जाएगी ।उसी दिन से अवैध दारू की बिक्री तत्काल बंद हो जाएगी ।श्री सिंहअपने आवास पर पत्र प्रतिनिधियों से  वार्ता कर रहे थे। उन्होने एक साथ भ्रष्टाचार ,अवैध रूप से बिक रही दारू, राजनीति में  नॉन पॉलिटिकल लोगों के प्रवेश पर प्रहार किया । कहा कि मैं 27 वर्षों तक ब्लाक प्रमुख रहा ।उस समय कहीं भ्रष्टाचार दिखाई नहीं दे रहा था। आज चारों तरफ भ्रष्टाचार का बोलबाला है ।ब्लाक प्रमुख एवं जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव आम जनता द्वारा न कराए जाने के कारण नॉन पॉलिटिकल लोग इस पद पर आ रहे हैं और भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है।राजनीति में नॉन पॉलिटिकल लोगों का प्रवेश बंद होना चाहिए ।उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग पर सरकार का अंकुश नहीं रह गया है ।जिसके कारण भ्रष्टाचार चरम सीमा पर बढ़ रहा है। सिर्फ गौशाला खोलने से भ्रष्टाचार समाप्त नहीं हो जाएगा। अगर सरकार लोक सेवकों पर अंकुश नहीं लगाती तो इसका खामियाजा उसे अगले चुनाव में भुगतना पड़ सकता है। उन्होंने धार्मिक परशुराम स्थान के अगल-बगल बिक रही कच्ची दारू पर गहरा  चिंता जाहिर की।


राममिलन तिवारी

No comments