Breaking News

> > >

गिट्टी बालू कारोबारी की हत्या में एसपी की नजर टेढ़ी, एसएचओ एवं एक एसआई लाइन हाजिर

 


बेल्थरारोड, बलिया। नगरा थाना क्षेत्र के बछईपुर में शनिवार को कारोबारी की हत्या और बसपा विधायक के आरोपो को गम्भीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी और एक उपनिरीक्षक को लाइन हाजिर कर दिया है ।पुलिस अधीक्षक की कार्यवाही से पुलिस महकमे में खलबली मची हुई है ।

              नगरा गड़वार मार्ग पर शनिवार की सुबह सरयाँ बगड़ौरा निवासी 50 वर्षीय हीरामन यादव को बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी ।हत्या की खबर फैलते ही घटनास्थल पर हजारों की भीड़ जुट गई ।घटना से आक्रोशित भीड़ सड़क पर शव के साथ जाम लगा दी ।घटनास्थल पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक के आश्वासन पर ग्रामीणों ने जाम समाप्त कर दिया ,वही शिकायत किया कि मृतक थाने पर दो बार हत्या की आशंका का प्रार्थना पत्र दिया था किंतु पुलिस पर कोई असर नहीं हुआ ।उधर घटना की जानकारी होने पर क्षेत्रीय बसपा विधायक उमाशंकर सिंह भी पहुंच गए। तल्ख तेवर में विधायक ने नगरा पुलिस की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की ।विधायक के आरोपो से पुलिस तिलमिला गई ।बसपा विधायक ने थाने पर मीडिया से खुले तौर पर नगरा पुलिस की अवैध वसूली का आरोप लगाया ।थाना क्षेत्र में बढ़ते अपराध का ग्राफ और अवैध वसूली के आरोप के जन आक्रोश को देखते हुए पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने थाना प्रभारी यादवेंद्र पांडे और उप निरीक्षक अखिलेश यादव को लाइन हाजिर कर दिया है ।जिससे पुलिस महकमे में खलबली मची हुई है।



हत्या के 36 घंटे के बाद भी आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर


बेल्थरारोड, बलिया। शनिवार को तड़के हुई गिट्टी बालू कारोबारी हिरामन यादव की हत्या के 36 घंटे बीतने के बाद भी पुलिस का हाथ आरोपियों तक नहीं पहुंच पाया है। जबकि मृतक के पुत्र के तहरीर पर पुलिस ने सात नामजद लोगो के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर ली थी और एक आरोपी को थाने ले आई थी। अब देखना ये है कि नवागत थाना प्रभारी आरोपियों को पकड़ पाने में कितना सफल हो रहे है।

            नगरा थाना क्षेत्र के सरया बगडौरा निवासी गिट्टी बालू कारोबारी 50 वर्षीय हिरामन यादव की बाइक सवार बदमाशों ने शनिवार को तड़के गोली मारकर हत्या कर दिए। हत्या के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने नगरा गड़वार मार्ग को शव के साथ जाम कर दिया था। लगभग ढाई घंटे बाद पुलिस अधीक्षक बलिया देवेन्द्र नाथ व बसपा विधायक उमाशंकर सिंह के समझाने बुझाने व आश्वासन पर ग्रामीणों ने जाम समाप्त किया था। इस मामले में मृतक के पुत्र सिंटू यादव के तहरीर पर पुलिस ने सात लोगो के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली थी तथा एक आरोपी को पकड़ने के बाद हिरासत में लिया था। इस मामले में पुलिस अधीक्षक बलिया ने नगरा पुलिस को शीघ्र आरोपियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था लेकिन 36 घंटे से उपर का समय बीतने के बाद भी नगरा पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में असफल रही है। इसी बीच मृतक के परिजनों द्वारा तथा बसपा विधायक के नगरा पुलिस पर लगाए गए आरोपों को गंभीरता से लेते हुए एसपी ने थाने के प्रभारी निरीक्षक यादवेन्द्र पांडेय व एक उपनिरीक्षक अखिलेश यादव को लाइन हाजिर कर दिए। नवागत प्रभारी निरीक्षक के सामने गिट्टी बालू कारोबारी के हत्या के आरोपीयो को शीघ्र पकड़ने की चुनौती है। अब देखना ये है कि नवागत थाना प्रभारी आरोपियों के तक पहुंच पाने में कितना सफल हो पाते है।

                                   

संतोष द्विवेदी

No comments