Breaking News

> > >

जब आशा बहुओं ने दिया धरना तो सीएमओ ने मानदेय भुगतान का दिया आदेश





बलिया: शुक्रवार को प्रातः 10:00 बजे से 3:00 बजे सायं तक 5 घंटे का सांकेतिक धरना पर जिला अधिकारी बलिया कार्यालय के सामने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आजाद हिंद फौज के संस्थापक सुभाष चंद्र बोस जी की मूर्ति के समक्ष जिला आशा संघ बलिया की जिलाध्यक्ष  पूनम पाण्डेय ने 251 आशाओं और संगिनीयों के प्रतिनिधिमंडल  के साथ धरना दिया. धरने से पहले सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर पूनम पांडे ने माल्यार्पण किया तत्पश्चात आशाओं एवं संगिनीयों के समस्याओं से संबंधित छह सूत्रीय मांगो सूत्रीय मांगों से संबंधित ज्ञापन माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार को संबोधित जिला अधिकारी बलिया  को सौंप कर त्वरित समस्याओं के समाधान की मांग किया गया 6 सूत्रीय ज्ञापन में माँग किया गया है कि राज्य स्तर से मिलने वाली प्रतिपूर्ति राशि प्रति माह rs.750 रुपए का बलिया जनपद में कार्यरत 2800आशा बहूओं एँव 119 संगींनियों को अप्रैल 2019 से अक्टूबर 2020 तक 19 माह का भुगतान नहीं किया गया है जो बलिया जनपद के स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का जीता जागता प्रमाण है अतः तत्काल राज्याशं प्रतिपूर्ति राशि का भुगतान किया जाए प्रदेश के सिर्फ बलिया जनपद में ही भुगतान नहीं किया गया है.


प्रदेश के अन्य जनपदों में भुगतान हो रहा है बलिया जनपद के श्रीमान मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही और अनियमितता से इस कोविड-19 इस महामारी में जनपद बलिया के आशा बहुओं एवं संगिनी का कुल 19 माह का कुल रुपया 4 करोड़ 1500000 ₹95750 मात्र का पावना बकाया होना यक्ष प्रश्न खड़ा कर रहा है बलिया जनपद में विगत वर्ष 2019 में विभागीय लापरवाही के कारण आशा दिवस नहीं मनाया गया और 17 ब्लाकों की प्रथम द्वितीय तृतीय स्थान प्राप्त आशाओं को पुरस्कार की राशि भी नहीं भेजी गई 2020 में आशा दिवस का आयोजन किया जाए और पुरस्कार दिया जाए आशा बहू व आशा संगिनीयों को केंद्रीय कर्मचारी का दर्जा देकर नियुक्ति पत्र दिया जाए तथा उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर कराया जाए एवं निश्चित मानदेय प्रतिमाह ₹24000दिया जाए, तथा  इनकी मृत्यु पर बेटी को या बहू को प्रथम वरीयता दिया जाए बलिया जनपद के समस्त सरकारी प्रसव स्थलों तथा नसबंदी, केंद्रों पर भी लाभार्थियों एवं आशा बहू को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि भुगतान प्रमाण सहित 24 घंटे के अंदर शासनादेश के मंशा के अनुरूप दिया जाए महिला मरीजों के साथ आई आशा बहुएं को ठहरने व शौच - स्नान व भोजन आदि की व्यवस्था किया जाए क्योंकि आशा बहुएं रात दिन 24 घंटे मरीजों की सेवा में तत्पर रहती है .


इनकी सुरक्षा की व्यवस्था किया जाए श्रीमान यह सुनिश्चित किया जाए कि आशा बहू आशा संगिनी यों के साथ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी गण सम्मानजनक एवं सहयोगात्मक व्यवहार करें तथा विभागीय बैठक में बैठने हेतु कुर्सी उपलब्ध कराया जाए अन्यथा की दशा में अधिकारी व कर्मचारी गण भी जमीन पर चैट पर बैठकर बैठकों का संचालन करें क्योंकि आशा एक मानव स्वास्थ्य सामाजिक कार्य करती है तथा स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ की की हड्डी है श्रीमान यह सुनिश्चित किया जाए कि जनपद बलिया के समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का कार्यालय प्रत्येक कार्य दिवसों में निश्चित समय पर खुले तथा कार्यरत अधिकारी व कर्मचारी गण उपस्थित रहे साथ ही साथ ग्रामीण अंचलों में भी कार्यरत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीगण व कर्मचारी का गांव में समयानुसार नियमानुसार उपस्थित रहे तथा रात्रि विश्राम भी करें साथ ही साथ प्रतिमाह वर्कशीट्स लेखन सामग्री आदि दिया जाए ताकि आशा बहुएं आसानी से आशा संगिनी के सहयोग से भारत सरकार की मंशा के अनुरूप ग्रामीण जनों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान कर स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण कर सकें.


जिला अधिकारी बलिया ने ने राज्याशं की बढ़ोतरी  प्रतिमाह ₹750 का भुगतान स्वास्थ्य विभाग बलिया द्वारा 19 माह से से नहीं किए जाने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी बलिया को स्थानीय समस्याओं का समाधान करने एवं त्वरित भुगतान करने का निर्देश दिए जिस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी बलिया ने 1 दिन में 6 माह का का भुगतान करने का आदेश जारी किए तथा पिछले वित्तीय वर्ष का 12 माह का  बजट लैप्स होने के कारण भुगतान हेतु शासन से बजट के लिए मांग पत्र भेजा जिलाधिकारी बलिया  के सकारात्मक वार्तालाप के बाद सकारात्मक हस्तक्षेप से धरना को स्थगित किया गया.


धरने को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष पूनम पांडे ने कहा कि यदि 7 दिन के अंदर 6 माह का भुगतान नहीं हुआ और पिछले वित्तीय वर्ष के 12 माह का भुगतान यदि 15 दिनों में नहीं हुआ तो अनिश्चितकालीन आमरण अनशन किया जाएगा आशाओं द्वारा बताया गया कि  सी. एच. सी. और पी. एच.सी. पार भुगतान हेतु ₹200 का मांग किया जा रहा है जो आशाओं का शोषण है उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा इस अवसर पर उषा ठाकुर कंचन सिंह अनिता राय प्रेम कुमारी यादव कुंती देवी शुभावती, पूनम देवी सुनीता गोंड़ दिव्या सुनीता पांडे शीला यादव आरती सिंह लीलावती पटेल शारदा यादव सरिता गुप्ता आशा वर्मा सुनीता मौर्या रीता चौरसिया संगीता सिंह इंदु मिश्रा ममता सिंह मीणा दुबे मनोरमा गुप्ता रीता राय दुर्गावती शर्मा राज मुन्नी राम कामिनी सिंह जयसिंह आशा रीमा लाल मुनी सविता मीणा संगीता शीला चौहान आशा यादव किरण यादव रेखा संगीता कुसुम सहित 251 आशा बहुओं व संगिनी या मौजूद थे सांकेतिक धरने का नेतृत्व व अध्यक्षता जिलाध्यक्ष पूनम पांडे एवं सभी आगंतुकों का आभार व्याप्त उपाध्यक्ष विद्यावती सिंह एवं संचालन महामंत्री शीला सिंह ने किया .




रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments