Breaking News

> > >

जाने कहाँ के लोग दो संसदीय व दो विधान सभा में होने का झेल रहे दंश

 



रेवती (बलिया) :रेवती ब्लाक दो संसदीय व दो  विधानसभा क्षेत्र में पड़ने से विकास का पहिया थम सा गया है । बांसडीह व बैरिया विधान सभा सहित गंगा व घाघरा के पचास गांवों का सीधा सम्बन्ध रेवती बाजार से जुड़ा है। क्षेत्र की लगभग दर्जन भर संपर्क मार्गों के खस्ताहाल के चलते प्राईवेट वाहन नही चल पा रहें हैं । सड़क व साधन के अभाव में रेवती बाजार का दायरा भी सिमटता जा रहा है । रेवती से कुसौरीकला महज पांच कि मी है । कुशहर पासवान बस्ती से कुसौरीकला तक 3 कि मी संपर्क मार्ग इतना अधिक क्षतिग्रस्त है कि लोग रेवती न आकर सीधे सहतवार जाना मुनासिब समझते हैं । रेवती से हडियाकला भी 5 कि मी है । नगर के उत्तर टोला पुल से भोपालपुर, हडिया तिराहा तक दो कि मी सड़क की खस्ताहाल के चलते पैदल चलना भी दुष्कर हो रहा है । रेवती से कोलेन पांडेय के टोला महज दो कि मी हैं । 


बीजगोदाम से 500 मी संपर्क मार्ग अत्यधिक क्षतिग्रस्त होने से आये दिन दो पहिया वाहन चालक चोटिल होते रहते हैं । कोलनाला कुण्ड से दलछपरा श्रीनगर जाने वाला 3 कि मी लंबा संपर्क मार्ग पूरा का पूरा क्षतिग्रस्त हो गया । रेलवे स्टेशन जाने वाला डेढ़ कि मी लंबा संपर्क भी कई जगह डेमेज हो चुका है । क्षेत्र के अन्य आधा दर्जन संपर्क मार्गो की कमोवेश यही स्थिति होने से रेवती का विकास का पहिया थम सा गया है । अभी तक रेवती ब्लाक रोडवेज परिवहन सेवा से भी वंचित है। सीएचसी रेवती रेफर अस्पताल बन कर रह गया है । आयुर्वेदिक चिकित्सालय पर एक दशक से कोई चिकित्साधिकारी की नियुक्ति नहीं हो पायी है । रेवती थाना पर कार्यरत आरक्षी से लेकर एस आई व एस एच ओ तक को बैरक व आवास के आभाव में उन्हें किराया के मकान में रहना पड़ता है। ऐसे में लोगों को एक ऐसे मसीहा की तलाश हैं जो उनकों इन सभी समस्याओं से निजात दिला सके ।




रिपोर्ट पनीत केशरी

No comments