Breaking News

> > >

कोविड-19 के प्रति सतर्कता बेहद जरूरी : सीएमओ

 


रैपिड रिस्पांस टीम तथा लैब टेक्नीशियन को दिया प्रशिक्षण 

बलिया : कोविड-19 दूसरी लहर की संभावना के दृष्टिगत पूर्व तैयारी के संबंध में सायंकाल शुक्रवार को विकास भवन सभागार में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जितेन्द्र पाल की अध्यक्षता में रैपिड रिस्पांस टीम (आरएआरटी) के सदस्यों तथा लैब टेक्नीशियन (एलटी) का प्रशिक्षण दिया गया ।

प्रशिक्षण में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 के प्रति सतर्कता और सजगता बहुत आवश्यक है। रैपिड रिस्पांस टीम के सदस्य पॉजिटिव मरीज के स्वास्थ्य की निगरानी रखें । मानक के अनुरूप होम आइसोलेशन की सुविधा प्रदान करते हुए आवश्यक औषधियां उपलब्ध कराएं और नियमित रूप से मरीजों के संपर्क में रहें । किसी भी प्रकार की समस्या होने पर उन्हें एल-2 इकाई बसंतपुर में संदर्भित कराएं।

प्रशिक्षण में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं  कोविड के नोडल अधिकारी डॉ हरिनन्दन प्रसाद ने कोविड के वर्तमान परिदृश्य पर प्रकाश डालते हुए रैपिड रिस्पांस टीम को सतर्क रहकर कार्य करने पर बल दिया । उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में कोविड-19 के पॉजिटिव मरीज कम संख्या में मिल रहे हैं। इससे समुदाय में कोरोना के प्रति लापरवाही के भाव पैदा हो रहे हैं, जो कि खतरनाक है। मास्क, दो गज दूरी तथा हैंडवाशिंग के विषय में सामाजिक जागरूकता आशा कार्यकर्ताओं, ए एन एम एवं अन्य कर्मियों के माध्यम से लाने का कार्य किया जाए। आर. आर .टीम के सभी सदस्य क्षेत्र में जाने पर पूरी सतकर्ता बरतते हुए स्वयं के बचाव हेतु कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें।

एल o टीo तथा लैब सहायक (एल o ए o) को भी सावधानीपूर्वक सैंपल लेने के लिए प्रेरित किया गया। इसके साथ ही इस बात पर बल दिया गया कि पूर्व की भांति पी.पी.ई. किट का उपयोग अच्छी तरह करें। सैंपल लिए जाने के तरीके प्रदर्शित करके दिखाया गया तथा राज्य स्तर से प्राप्त नवीन दिशा-निर्देशों से भी अवगत कराया गया।

प्रशिक्षण में एसीएमओ डॉ. हरिनंदन प्रसाद, डॉ. केशव प्रसाद, डॉ प्रेम प्रकाश, एपिडेमिओलोजिस्ट डॉ. हुदा, डी पी एम डॉ.आर० बी० यादव ने भी जानकारी प्रदान किया।



रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments