Breaking News

> > >

संघर्षों के प्रतीक थे स्वर्गीय रामपाल मुखिया : अरविंद गिरी

 


दुबहर, बलिया । श्रीराम पाल मुखिया जी एक सच्चे समाजवादी होने के साथ ही हमेशा दलित, शोषित एवम पीड़ितो की आवाज के लिए आजीवन संघर्ष करते रहे ।  उक्त बातें समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष अरविंद गिरी ने सोमवार की देर शाम शिवपुर दीयर नई बस्ती ब्यासी स्थित श्रीराम पाल मुखिया की तृतीय पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में कहीं । कहा कि श्रीराम पाल मुखिया के जीवन चरित्र से हम सभी युवा पीढ़ी के लोगों को हमेशा प्रेरणा मिलती रहेगी । जिन्होंने अंतिम समय तक समाज के भलाई के लिए संघर्ष किया । हालांकि उनकी कमी हमेशा हमलोगों को खलती रहेगी । वरिष्ठ सपा नेता तथा बेलहरी के ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि मृत्युंजय तिवारी बबलू ने कहा कि स्वर्गीय रामपाल मुखिया उच्च विचारों के धनी तथा गरीबों के सच्चे मददगार थे। समाजवादी युवजन सभा के जिला अध्यक्ष प्रभु नाथ यादव ने कहा कि समाज में वहीं व्यक्ति  सम्मान पाता है ,जो स्वयं सम्मानित हो।  परोपकार करने की कला मुखिया जी के अंदर विद्यमान थी।   उपस्थित सभी लोगो ने मुखिया जी के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रधांजलि अर्पित की । इस मौके पर मुखिया जी की पत्नी रामरति पाल एवं उनके पुत्र रविंद्र पाल एवम देवेन्द्र पाल ने सभी अतिथियों को अंग वस्त्रम से सम्मानित किया । इस मौके पर अभय सिंह रिंकू, श्रीकांत गिरी मुन्ना,राजेश  पाठक, लोहिया वाहिनी के जिलाध्यक्ष आशुतोष ओझा, छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष रोहित चौबे ,अमित राय,कृष्णा सिंह,मन्नू सिंह,दिनेश यादव,मनोज गिरी,  गुड्डू यादव ,ओम शंकर पाल, अनिल सिंह,अमित राय,अमृतांशु पाठक,प्रियांशु तिवारी,जितेंद्र पाल आदि रहे ।



रिपोर्ट:-नितेश पाठक

No comments