Breaking News

उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने वाला है कृषि बिल : मृत्युंजय तिवारी बबलू


दुबहर, बलिया : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी के निर्देश पर आज बलिया नगर विधान सभा के छाता, सेमरी, मुबारकपुर ,चंदवक आदि गावो में समाजवादी किसान घेरा कार्यक्रम के तहत किसान चौपाल का आयोजन समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मृत्युंजय तिवारी बबलू के नेतृत्व में संपन्न हुआ। 

इस दौरान क्षेत्र में किसानों को संबोधित करते हुए मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में किसानों का शोषण चरम पर पहुंच चुका है। कहां की जिस सरकार में अन्नदाताओं का शोषण शुरू हो जाए इससे बड़ा दुर्भाग्य उस देश का कुछ नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में देश की स्थिति सही नहीं है एक महीने से देश का अन्नदाता सड़कों पर है लेकिन प्रधानमंत्री जी मौन व्रत साधे हुए हैं।

उन्होंने बतलाया कि किसानों को नए कृषि कानून पर आपत्ति है, क्योंकि एपीएमसी में किसानों को अपनी फसल का न्यूनतम मूल्य मिलता है, इस कानून में यह साफ नहीं किया गया है कि मंडी के बाहर किसानों को न्यूनतम मूल्य मिलेगा या नहीं। ऐसे में किसानों की फसलों की कीमत कारपोरेट घराने के लोग तय करेंगे। तथा किसानों से कम कीमत पर उनकी फसलों को खरीदने का दबाव बनाया जाएगा।किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा की, 'किसान आंदोलन भारत के  लोकतांत्रिक मूल्य की पुनर्स्थापना का भी आंदोलन है।  सरकार के सभी फैसलों में आम जनता की भागीदारी होनी चाहिए, सरकार की मनमानी नहीं. इसीलिए भारत में लोकतंत्र को बचाने के लिए देश का हर नागरिक भी आज ‘किसान आंदोलन’ के साथ भावात्मक रूप से जुड़ता जा रहा है।इस दौरान उन्होंने कहा कि वर्तमान की भारतीय जनता पार्टी की सरकार किसान विरोधी हो चुकी है तथा उक्त किसान बिल के माध्यम से सरकार अपने पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाना चाहती है कहा कि नए कृषि बिल से किसानों की वास्तविक स्थिति में कोई सुधार नहीं होने वाला है। 

इस मौके पर प्रमुख रूप से शैलेश यादव जिला पंचायत सदस्य, रमाशंकर पांडे ,मिंटू पांडे, हरेंद्र यादव ,चंदन ओझा ,वशिष्ठ राय, श्रीकांत गिरी मुन्ना ,अमित राय, गुड्डू यादव ,छोटू उपाध्याय आदि लोग मौजूद रहे।


रिपोर्ट:-नितेश पाठक

No comments