Breaking News

चौपाल के दौरान चंवरी गांव में ग्रामीणों ने सचिव के गांव में न आने की शिकायत पर मन्त्री ने लगाई फटकार


रतसर (बलिया) जनता के द्वार- आपकी सरकार कार्यक्रम के तहत गांव-गांव घर-घर पदयात्रा की शुरुआत स्वतन्त्र प्रभार राज्यमन्त्री उपेन्द्र तिवारी ने मंगलवार को गड़वार ब्लाक के बहादुरपुर कारी,जिगनी, जिगनहरा, सुहवां, छतवा एवं अमडरिया में की। गांव में घर-घर जाकर केन्द्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी ली। देर शाम विकास खण्ड गड़वार क्षेत्र के चंवरी गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय के परिसर में आयोजित चौपाल कार्यक्रम के दौरान पात्र लोगों को शौचालय, आवास तथा पेंशन न बनने को लेकर सम्बन्धित अधिकारियों की डांट लगाई व एक सप्ताह बाद इन्हीं गांवों में लगने वाले चौपाल तक पात्रों को लाभान्वित करने का समय दिया। पदयात्रा के अपने उद्देश्य के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सबका साथ सबका विकास के साथ ही उन्होंने बताया कि सरकार की जो योजनाएं चलाई जा रही है उसे पात्र व्यक्ति तक पहुंचा कि नही। पदयात्रा के माध्यम से घर - घर जाकर जानकारी ली जा रही है। उन्होंने वहां उपस्थित अधिकारियों को जनता द्वारा समस्याओं को एक निश्चित समय में करने का निर्देश दिया। पदयात्रा के दौरान उन्होंने बताया कि आज भी गांव में भ्रमण के दौरान देखने को मिला कि जो पात्र लाभार्थी है उनको अभी तक लाभ नही मिला। खण्ड विकास अधिकारी एवं एडीओ पंचायत को एक सप्ताह के अन्दर पात्र व्यक्ति को लाभ दिलाने का निर्देश दिया। चौपाल में सफाई कर्मियों को गांव में न आने की शिकायत पर एडीओ पंचायत की फटकार लगाई साथ ही सचिव से जब उन्होने गांव में रोस्टर के हिसाब से आने के बारे में जानकारी ग्रामीणों से ली तो लोगों ने बताया कि गांव में कभी नही आते। इस पर ग्राम विकास अधिकारी को फटकार लगाते हुए समय से गांव में आने का निर्देश दिया। इस अवसर पर जनपद से आए जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ पदयात्रा के दौरान उपेन्द्र पाण्डेय, टुनटुन उपाध्याय, सूर्यदेव राय, मदन राजभर, उमेश सिंह, देवेन्द्र यादव, बीर बहादुर यादव, कल्लू यादव, लव गिरि, मंटू सिंह, मनोज कुमार, मोनू खरवार आदि लोग शामिल थे।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय



No comments