Breaking News

दूल्हे को मंडप में छोड़ काउंसलिंग में पहुंची दुल्‍हन

 




लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में ऐसा पहली बार देखने को मिला है, जहां दुल्हन अपने दूल्हे को मंडप में छोड़कर खुद नौकरी की काउंसलिंग में पहुंच गई। मंडप में बैठी दुल्‍हन की मांग में सुबह 5 बजे जैसे ही दूल्‍हे ने सिंदूर भरा, वैसे ही दुल्‍हन मंडप छोड़कर नौकरी की काउंसलिंग में चली गई। काउंसलिंग के बाद उसे सरकारी नौकरी मिल गई और वापस आकर खुशी-खुशी दुल्हन विदा हुई।

मामला गोंडा के रामनगर का है। बाराबंकी की रहने वाली प्रज्ञा तिवारी की शादी वाले दिन ही उनकी टीचर पद की काउंसलिंग होनी थी। रातभर शादी की रस्में संपन्न हुईं, सुबह जैसे ही पांच बजे प्रज्ञा मेहंदी रचे हाथों से गोंडा बीएसए कार्यायल में चल रही टीचर पद की काउंसलिंग में पहुंच गईं। प्रज्ञा अपने डॉक्यूमेंटस के साथ पहुंची और फॉर्म भरा। प्रज्ञा के बालों में मोगरे के फूलों के गजरे सजे थे। काउंसलिंग की शेड्यूल डेट फिक्स थी, इसलिए फेरों के बाद ही प्रज्ञा को कई रस्म छोड़कर काउंसलिंग के लिए जाना पड़ा। प्रज्ञा लाइन में लगी और अपने डॉक्यूमेंटस को चेक करवा कर रिसीविंग ली, जहां प्रज्ञा के चेहरे पर दोहरी खुशी झलक रही थी।

प्रज्ञा ने कहा, 'मैं मेरे जीवनसाथी को बहुत लकी मानती हूं, क्योंकि उसकी जिंदगी में आने के बाद ही मुझे तुंरत नौकरी मिल गई।' प्रज्ञा ने देश के सभी मां-बाप से अपील की है करते हुए कहा कि वह अपनी बेटियों को जरूर पढ़ाएं, जिससे वह आत्मनिर्भर हो सकें। प्रज्ञा ने अपनी इस उपलब्धि के लिए अपने माता-पिता को श्रेय दिया है। बीएसए ने भी प्रज्ञा को नौकरी मिलने पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि यह बड़ी बात है कि कल शादी हुई और आज नौकरी लग गई। प्रज्ञा काउंसलिंग करा कर वापस बाराबंकी चली गई हैं।



डेस्क

No comments