Breaking News

चार सदस्यीय कायाकल्प की टीम ने किया सीएचसी का निरीक्षण


रतसर (बलिया)स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर गुरुवार को चार सदस्यों की कायाकल्प टीम ने अस्पताल की व्यवस्थाएं देखी और अस्पताल प्रभारी से जानकारी ली। प्रधानमन्त्री द्वारा 2014 में शुरू की गई कायाकल्प योजना के तहत प्रदेश में पहले स्थान पर रहने वाले अस्पताल को 50 लाख रुपए का पुरस्कार दिया जाता है जबकि दूसरे स्थान पर 70 प्रतिशत से अधिक अंक लाने पर तीन लाख रुपए का पुरस्कार दिया जाता है। गुरुवार को स्थानीय सीएचसी पर पहुंचे जिला गुणवत्ता प्रबन्धक डा० रंजय कुमार ने स्टाफ की कार्यक्षमता एवं पत्रावलियों का निरीक्षण कर संतोष प्रकट की वहीं मण्डलीय गुणवत्ता प्रबन्धक डा० संजय प्रियदर्शी ने कैम्पस के निरीक्षण के उपरान्त हर्बल गार्डेनिंग के सुझाव दिए। जिला स्वास्थ्य सलाहकार डा० मिथिलेश कुमार ने कचरा निस्तारण, साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत पर बल दिया। मण्डलीय शहरी स्वास्थ्य सलाहकार सुरेश कुमार ने महिला एवं पुरुष काउन्टर अलग-अलग बनाने के सुझाव के साथ ही डस्टबीन, थूकदान को कमरे के बाहर रखने का सुझाव दिया। इसके पूर्व में किए गए निरीक्षण और दिए गए निर्देशों का पालन किया गया है या नही इसकी भी जानकारी ली। उन्होंने बताया कि कायाकल्प टीम का मुख्य मकसद अस्पतालों में विभिन्न वार्डो में सफाई व्यवस्था और चिकित्सकों का मरीजों के साथ व्यवहार आदि देखना है। इस दौरान अधीक्षक डा० राकिब अख्तर, डा० अमित वर्मा, बीपीएम आशुतोष सिंह ,अरूण कुमार, सुमित सिन्हा, पियुष बाबू, अनिल कुमार,प्रीति पाण्डेय, गुंजा सिंह, आशा सिंह आदि स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित रहे।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments