Breaking News

आपकी लापरवाही से बढ सकता है कोरोना का ग्राफ: डा०राकिफ अख्तर



रतसर (बलिया) कोरोना की चेन तोड़ना किसी एक व्यक्ति की नही बल्कि पूरे समाज की जिम्मेदारी है जो लोग लापरवाही बरतते है वह खुद के लिए ही नही बल्कि पूरे समाज के लिए परेशानी पैदा करने में सहायक साबित हो सकते है। लापरवाही बरतने का मतलब कोरोना संक्रमण को बुलावा देना है। सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रतसर के अधीक्षक डा० राकिफ अख्तर ने बताया कि अक्टूबर में मरीजों की संख्या भले ही कमी रही हो लेकिन पहले त्योहारों और फिर सहालग सीजन शुरू होने के कारण नवम्बर माह के दूसरे सप्ताह से फिर मरीजों की संख्या में बृद्धि होने लगी। बाजारों में हर दिन भारी संख्या में लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है।लोग लापरवाही बरतने में कोई कोर कसर नही छोड़ रहे है। कोरोना अभी खत्म नही हुआ है इसके बावजूद सहलाग में लोगों द्वारा कोविड-19 की गाइडलाइन का बिल्कुल पालन नही किया जा रहा है। लोग घर से बाहर निकलने पर न तो मास्क लगा रहे है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे है। शादी-विवाह के कार्यक्रमों में पहले जैसी ही भीड़ इकट्ठा हो रही है। संक्रमण को रोकने के लिए सभी को जागरुक होना होगा। जब तक कोरोना की कोई वैक्सिन अथवा दवा नही आ जाती तब तक सावधानी ही कोरोना की दवा है। उन्होंने कहा कि घर से निकलते समय मास्क का अवश्य ही प्रयोग करे। नियमित रूप से साबुन अथवा सैनिटाइजर से हाथ साफ करे। किसी भी स्थिति में भीड़ का हिस्सा न बने। लोगों से कम से कम दो गज की दूरी बना कर रखे। सावधानी बरतने से ही कोरोना की चेन को तोड़ा जा सकता है।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments