Breaking News

सिर्फ केनरा बैंक के एटीएम को लूटते थे ये चोर, पुलिस ने पकड़ा तो हुआ खुलासा

 



सूरत। दो ऐसे अनपढ़ चोर गुजरात पुलिस के हत्थे चढ़े हैं, जिनके आगे टेक्नोलॉजी भी कुछ नहीं रह गई। ये चोर एटीएम मशीनों से इस तरह रकम उड़ा लेते थे कि पुलिस और बैंककर्मी हैरान रह जाते। सूरत के अंदर ही इन चोरों ने 20 लाख रुपए निकाल लिए। इनके पकड़े जाने पर पुलिस ने पूछताछ की तो इन्होंने तरीका बताया। जिसे सुनकर पुलिस चौंक गई। उसके बाद पुलिस ने बैंक को नसीहत दी कि ऐसे चोरों से बचना है तो अपने सारे एटीएम बदल दो।

ये चोर मेवाती गैंग से हैं और एटीएम खोलकर चोरी करते थे। अनपढ़ होने के बावजूद ये जिस तरीके से चोरी को अंजाम देते थे, उसका तोड़ बैंक के पास नहीं था। ये चोर सिर्फ केनरा बैंक के डी बोल्ट कंपनी के एटीएम को ही निशाना बनाते थे। इसी कारण पुलिस ने केनरा बैंक से कह दिया है कि चोरी व ठगी से बचना है तो इस कंपनी के सारे एटीएम बदल दो।

पुलिस के मुताबिक, इन आरोपियों की पहचान हनीफ सैयद और औसाफ हसन मोहम्मद सैयद के रूप में हुई है। दोनों सूरत के ​​​नानपुरा क्षेत्र में सारोली स्थित हारून लकड़ीवाले के गोदाम में किराए पर रहते थे। हनीफ छठवीं तो औसाफ तीसरी तक पढ़ा है। तीन फरार आरोपी साजिद खान, ज़हीर खान और इरफान खान सगे भाई हैं। मास्टरमाइंड साजिद समेत तीनों भाई अनपढ़ हैं।

यह गिरोह दिन-रात दोनों समय वारदात को अंजाम देता था, लेकिन तरीका ऐसा था कि, किसी को इसकी भनक भी नहीं होती थी। यह गैंग पूरा ATM खोलने के बजाय नकली चाबी से सिर्फ डिस्प्ले को खोलते। हर ट्रांजैक्शन के दौरान कैसेट से नोट ऊपर आते ही मशीन को ऑफ कर देते थे। ऊपर आ चुके नोट निकाल लेते। फिर कस्टमर केयर सेंटर को फोन करते कि खाते से पैसे कट गए, पर मिले नहीं। और अकाउंट में रुपये रिफंड भी करवा लेते थे। बहरहाल, इन चोरों से 4 डेबिट कार्ड, 2 मोबाइल और एक लाख से ज्यादा का सामान मिला है।

उन्होंने बताया है कि हमें वडोदरा में मौका नहीं मिला तो सूरत आ गए थे। यहां इच्छापोर, अठवालाइंस और अडाजण थाना क्षेत्र के केनरा बैंक के ATM से चोरी करने का दोनों ने स्वीकार किया है। हालांकि साजिद, इरफान और जहीर 140 से ज्यादा ट्रांजेक्शन कर 20 लाख रुपए चुरा चुके हैं। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ व फरार आरोपियों को ढूंढने की कार्रवाई शुरू कर दी है।


डेस्क

No comments