Breaking News

संयुक्त किसान-मजदूर समन्वय समिति के तत्वावधान में किसान महासभा के नेताओ ने किया एक दिवसीय भूख हड़ताल

 


मनियर (बलिया) दिल्ली के अलग- अलग सीमाओं मे विगत 28 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में बुधवार को मनियर बजार में विनय स्मृति मंच पर संयुक्त किसान-मजदूर समन्वय समिति के तत्वावधान में व बडागावं बजार मे किसान महा सभा के नेताओ ने एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन किया गया। अवाज- ए-हिंद के अध्यक्ष सुशांत राज भारत ने कहा कि किसानों का आंदोलन एक माह बितने  वाला है और ये निकम्मी सरकार किसानों के सवालों को सुनने के लिए तैयार नही है । केन्द्र की सरकार तीन कृषि कानुन की आड़ में खेती- किसानी को कार्पोरेट घरानो  के हाथों बेच देना चाहती है ।अखिल भारतीय किसान महासभा के  नेता कामरेड बसंत सिंह उर्फ मुन्नी सिंह ने कहा कि प्रधान मन्त्रॊ  देश में तानाशाही चला रहे है, लोकतंत्र में किसानों के सवालों को सुनने के बजाय  किसान आंदोलन को बदनाम करने में लगी है जबकि  लाखों किसान कह रहे है कि ये तीनो काले कानून को हम मानने वाले नही है, किसानो के लिेए बने कानून देश के खेती को गुलाम बना कर पूंजीपतियों के हवाले करने की सरकार की योजना है और किसानों को अपने ही खेत में मजदूर बना देना चाहतीं है, सरकार राशन बितरण प्रणाली खत्म करना चाहती है जिससे गरीबों को कोटे से राशन मिलता है वो भी बंद हो जाएगा जिससे देश में गरीबों की भारी मात्रा में भूखमरी शुरू हो जाएगा,आरोप लगया कि  सरकार देश में अडानी अम्बानी जैसे पूंजीपतियों के लिए एजेंट के बतौर काम कर रही है।इस दौरान भूख हड़ताल में बशिष्ठ राजभर, मदन सिंह, विनय सिंह, जगदीश जी ,सुशांत राज भारत, कुंदन जी, अभिषेक पाठक, अश्वशक्ति उर्फ गांधी, सुबास राजभर, अशोक राम, रामेश्वर, राम, राधेश्याम ,राजू ,कमलदेव, अशोक ,रोहित, संजय आदि लोग शामिल रहे ।



रिपोर्ट राममिलन तिवारी

No comments