Breaking News

> > >

ट्यूबेल पर सो रहे युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मिला शव, जांच में जुटी पुलिस


सिकन्दरपुर, बलिया। स्थानीय थाना क्षेत्र के गांग किशोर गांव में अपने खेत की रखवाली करने के लिए ट्यूबेल पर   सो रहे एक 25 वर्षीय युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिलने से पूरे गांव में सनसनी फैल गई। सूचना जैसे ही गांव में पहुंची मृतक के दरवाजे पर सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृत युवक के शव को  कब्जे में लेकर जांच में जुट गई है।


मिली जानकारी के अनुसार दुर्गेश वर्मा  पुत्र स्व० विनोद वर्मा रोजाना की तरह बुधवार की रात को घर से खाना खाने के बाद सोने के लिए गांव से बाहर पुर्व दिशा मे स्थित अपने ट्यूबवेल पर  सोने चला गया। गुरुवार की सुबह दुर्गेश के ड्यूटी पर न आने के बाद खोजबीन करते हुए ट्रैक्टर मालिक पीयूष राय भी ट्यूबवेल के पास आकर आवाज़ लगाकर लौट गए थे।  8 बजे तक दुर्गेश जब घर नहीं लौटा तो चाचा प्रमोद वर्मा अन्य दो लोगों धर्मेन्द्र पासवान व अजय वर्मा के साथ ट्यूबवेल पर स्थित मड़ई के पास जाकर दुर्गेश को आवाज़ देने लगे। कोई प्रतिक्रिया न मिलने पर मृतक के चाचा प्रमोद वर्मा व धर्मेंद्र पासवान मड़ई के अंदर पहुंचे। चाचा प्रमोद वर्मा ने सो रहें भतीजे दुर्गेश वर्मा के शरीर से जैसें ही रजाई हटाया तो उनकें होश ही उड़ ही गए। दुर्गेश की जीभ निकली हुई थी तथा जबड़ों के बीच दबी पड़ी थी और दोनों हाथों की मुठ्ठियाँ टाइट बधी हुई थी तथा मृतक शरीर अकड़ गया था। मृतक के चाचा प्रमोद वर्मा चिल्लाते हुए अपने घर पर पहुंचे और परिवार के अन्य परिजनों को इस बात की सूचना दी। आवाज सुनकर मृतक के दरवाजे से सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई, जिसके बाद गांव के ही सुधीर पासवान ने पुलिस को घटना के बाबत फोन पर सूचना दी। सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी पवन कुमार, प्रभारी निरीक्षक बालमुकुंद मिश्रा, चौकी प्रभारी अमरजीत यादव अपने दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मृतक के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया तथा घटना की जांच में जुट गए, इस बीच पुलिस ने मृतक के घर को भी बारीक नजरों के साथ खंगाला। इस दौरान फॉरेंसिक टीम भी घटनास्थल पर पहुंचकर जांच में जुट गई है। मृतक दो भाई और एक बहन में सबसे छोटा था। वहीं घटना के बारे में गांव वालों का कहना है कि दुर्गेश बहुत ही शांत स्वभाव का लड़का था। कभी उसने किसी के साथ झगड़ा तक नहीं किया। अपनी खेती के साथ-साथ ट्रैक्टर चलाकर अपने परिवार की आजीविका चलाता था। 


वहीं घटना के बारे में पूछे जाने पर क्षेत्राधिकारी पवन कुमार ने कहा कि फॉरेंसिक टीम व पुलिस की जांच चल रही है। अभी कुछ भी कहना बहुत जल्दीबाजी होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही घटना के सही कारणों का पता चल पाएगा। 


वहीं मृतक की मां अशर्फी देवी का रो रो कर बुरा हाल है वह बार-बार एक ही बात कह जा रही है कि हे भगवान तूने यह क्या किया।


सन्तोष शर्मा

No comments