Breaking News

> > >

लाल किले से तिरंगे झंडे को निकालकर दूसरा झंडा लगाने का काम हमारे देश के किसान नही कर सकता : दयाशंकर सिंह

 


मनियर, बलिया ‌। गणतंत्र दिवस के अवसर पर लाल किले से तिरंगे झंडे को निकालकर दूसरा झंडा लगाने का काम हमारे देश के किसान नही कर सकता । कुछ लोग हैं जो किसान नहीं है व किसानों के आड़ में आंदोलन चला रहे हैं ।इसको भारत का किसान देख रहा है ।कई किसान संगठन इस हरकत के बाद अपना आंदोलन वापस ले लिया है। उक्त बातें भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने टीडी कॉलेज बलिया के पूर्व अध्यक्ष राजेश सिंह प्रिंस के मनियर आवास पर शनिवार की  रात पत्र प्रतिनिधियों से वार्ता के दौरान कहा। कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारी के लिए मनियर मंडल की बैठक चल रही है ।जिला पंचायत एवं ब्लाक प्रमुख के प्रत्याशी के लिए पूरे प्रदेश में मंडलों की बैठक चल रही है। पार्टी जिले के 58 जिला पंचायत वार्ड एवं 17 ब्लॉकों में अपना प्रत्याशी उतारेगी जिससे कि अधिक से अधिक जिला पंचायत सदस्य एवं ब्लाक प्रमुख चुनकर के जीते और जिला अध्यक्ष बीजेपी का बने। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद सही मायने में अगर किसानों के विकास व उनकी समस्याओं के समाधान के लिए कोई सरकार बनी है तो वह बीजेपी की सरकार है ।उत्तर प्रदेश में किसानों के छियासी हजार करोड़ रुपए के ऋण योगी जी ने माफ किया। किसान बिल किसानों के हित को ध्यान में रखकर बनाया गया है ।किसानों के खाते में हर साल छह हजार रुपए सीधे पहुंच रहा है। भारत के किसान की आय दोगुनी कैसे हो? भारत का किसान कैसे आत्मनिर्भर बने ?इसके लिए मोदी जी प्रयत्नशील है। किसान बिल के संदर्भ में कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने किसानों को आह्वान किया कि वो आये और बहस किया जाय जो गलत हो उसका संशोधन हो लेकिन किसान के आड़ में कुछ ऐसे लोग हैं जो सिर्फ किसान बिल वापस लेने की मांग कर रहे हैं।इस मौके पर  मुख्य रूप से पूर्व विधायक शिव शंकर चौहान,राजेश सिंह प्रिंस, राघव राम सिंह ,योगेंद्र सिंह, रविंद्र सिंह, मुकु सिंह ,सभासद प्रतिनिधि कृष्णा,मनु राजभर ,वशिष्ठ राजभर सहित इत्यादि लोग मौजूद रहे।




रिपोर्ट : राममिलन तिवारी

No comments