Breaking News

> > >

संक्रमित हो मर रही है मछलिया


रेवती (बलिया) बरसात में हुई अच्छी बारिश से नगर से सटे दह ताल व कोलनाला कुण्ड में इस वर्ष पर्याप्त पानी का संचय होने से भारी मात्रा में मछलिया की  संख्या में वृद्धि हुई है । दह ताल व कोलनाला कुण्ड में पाई जाने वाली रोहू व फरहा मछलियों की क्षेत्र में काफी मांग रहती है । विगत कुछ सप्ताह से कोल नाला कुण्ड के साथ दहताल की बरारी, शौर , आदि कुछ अन्य मछलियों के पृष्ठ भाग व पूँछ में चकता रोग के चलते काफी संख्या में मछलियां मर रही है। मछलियों के पृष्ठ भाग व पूँछ पर  गोल गोल लाल चकता बन जा रहा है । मछली खाने वालों के शरीर में खुझलाहट होने लगती है । जैसे जैसे जानकारी हो रही है लोग मछलियां खाने से कतराने लगे है। नगर पंचायत के सब्जी मण्डी से ट्रैक्टर ट्राली पर कूड़ा उठाने वाले सफाई कर्मी मंगरू रावत ने बताया कि शनिवार को सुबह  काफी मात्रा में संक्रमित मछलियां फेकी गई थी। जिसे नगर से बाहर कूड़ा संवर्धन गड्ढ़े में फेक दिया गया । मछली खाने के शौक़ीन सफाई नायक राज कुमार चौहान ने बताया कि लगभग एक महिने से मछली खाना छोड़ दिया हू । 

व्यवसाय से जुड़े कुछ साहनी लोगों का कहना है कि नदी में जहां हर समय पानी का बहाव रहता है वहाँ पायी जाने वाली मछलियां खाने योग्य है। दहताल व कोलनाला कुण्ड में नगर क्षेत्र के प्रदुषित पानी के गिरने व एक जगह पानी के स्थिर (ठहराव )  से मछलियां प्रदूषित हो रही है । दहताल में अभी संक्रमण कम फैला है । कोलनाला कुण्ड में इसका प्रसार ज्यादा है । अभी फरहा व रोहू मछलियों में रोग का फैलाव न के बराबर है।


पुनीत केशरी

No comments