Breaking News

चाची से अवैध संबंध बनाना पत्रकार के बेटे को पड़ा भारी, नसीब हुई मौत

 



रांची: झारखंड में अवैध संबंध की वजह से हत्या के दो अलग-अलग मामले सामने आए हैं. पहला मामला खूंटी जिले के कर्रा इलाके का है. जहां पुलिस ने वरिष्ठ पत्रकार अनिल मिश्रा के बेटे संकेत कुमार के हत्याकांड मामले में बड़ा खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक मृतक संकेत मिश्रा का अपनी चाची के साथ अवैध संबंध था. हालांकि चाची का घर के एक नौकर के साथ भी संबंध था. पुलिस ने संकेत मिश्रा हत्याकांड मामले में चाची और नौकर दोनों को छत्तीसगढ़ से गिरफ्तार किया है.

पुलिस की पूछताछ में दोनों ने अपना जुर्म कबूल किया है. पुलिस के मुताबिक संकेत मिश्रा के पिछले चार-पांच साल से अपनी चाची के साथ अवैध संबंध थे. इसी बीच 2017 में मृतक की शादी हो गई. इस वजह से चाची से उसकी मुलाकात कम हो गई. इस दौरान नौकर बिरसा हेमंबरोम ने चाची के साथ संबंध स्थापित कर लिए. संकेत को इस बात की भनक लग गयी थी. इस वजह से चाची और नौकर के साथ उसकी अनबन रहने लगी. 

चाची बात टालती रही लेकिन संकेत को बिरसा खटकने लगा. वह लड़ाई झगड़ा करने लगा. 5 जनवरी को चाची ने पिकनिक मनाने के बहाने संकेत को कर्रा के प्रेम घाघ बुलाया. इस बीच बिरसा कुछ लेने के लिए बाहर गया. वह जब लौट कर आया तो देखा कि चाची और मृतक के बीच हाथापाई हो रही थी. बीच बचाव करने में संकेत और नौकर के बीच मारपीट होने लगी. 

इसी बीच भागादौड़ी होने लगी और बिररसा ने बगल में एक गाय चराने वाली महिला के हाथ से हथियार (दाउली) लेकर संकेत की गर्दन पर वार कर दिया. जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. साक्ष्य छुपाने के लिए नौकर ने अपनी मोटर साइकिल से पेट्रोल निकालकर अपने ही जैकेट को भिंगो कर आग लगा दी और शव को जला दिया. 

सात जनवरी को पुलिस को एक जला हुआ शव बरामद हुआ. जिसकी शिनाख्त स्थानीय पत्रकार अनिल मिश्रा के बेटे के रूप में हुई. पुलिस अनुसंधान मोबाइल के सीडीआर में घटना के दिन आखिरी बार चाची के नंबर से 1048 सेकेंड बात हुई थी. बाद में पुलिस ने महिला को पूछताछ के लिए थाने बुलाया. लेकिन महिला थाना नहीं आई और अपने प्रेमी के साथ भाग गई. जिसके बाद पुलिस ने आठ सदस्यीय एसआईटी टीम का गठन कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया.  





डेस्क

No comments