Breaking News

> > >

बजट -2021: जाने क्या हुआ सस्ता और क्या महंगा

 



नई दिल्ली: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने साल 2021-22 के आम बजट में डायरेक्ट टैक्स में कोई राहत नहीं दी है, लेकिन उन्होंने इन-डायरेक्ट टैक्स में परिवर्तन का ऐलान जरूर किया है। मसलन, कई तरह के कच्चे पदार्थों पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई है। स्टील के कुछ उत्पादों पर शुल्क खत्म कर दिया गया है। वहीं कॉपर स्क्रैप पर शुल्क को 5 फीसदी से कम करके 2.5 फीसदी किया गया है। इसी तरह अब आपको मोबाइल के कुछ पार्ट्स के लिए 2.5 फीसद ड्यूटी देनी होगी। वहीं मोदी सरकार ने शराब ,मसूर की दाल, काबुली चना और मटर जैसे उत्पादों पर कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर सेस लगाने का ऐलान किया है। वित्त मंत्री ने इस साल कस्टम में 400 से अधिक छूटों की समीक्षा करने का भी प्रपोजल दिया है।

बजट में क्या हुआ मंहगा ?

आयातित कपड़े


आयातित खाद्य तेल


इंपोर्टेड ऑटो पार्ट्स


मोबाइल


चार्जर


लेदर


प्लास्टिक


सिल्क


शराब


फ्रिज/एयरकंडीशनर


एलईडी बल्ब


रत्न (जवाहरात)


सोलर प्रोडक्ट


इलेक्ट्रॉनिक के सामान


कॉटन


काबुली चना


दाल


यूरिया


पेट्रोल


डीजल


बजट में क्या हुआ सस्ता ?

तांबे के उत्पाद


चांदी


सोना


लोहा


स्टील


नायलॉन के कपड़


बीमा


ड्राई क्लीनिंग


कृषि उपकरण


मोदी सरकार ने इस साल ईंधन और शराब समेत कई चीजों पर एग्री इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपमेंट सेस लगाया है, जिससे कुछ चीजों के दाम बढ़ने स्वाभाविक हैं। हालांकि, वित्त मंत्री ने कहा है कि इससे उपभोक्ताओं पर कुल मिलाकर कोई अतिरिक्त भार नहीं पड़ेगा। मसलन, पेट्रोल पर 2.5 रुपये प्रति लीटर, डीजल पर 4 रुपये प्रति लीटर और मादक पेय पदार्थों पर 100 फीसदी एग्री इंफ्रा सेस लगाने की घोषणा की है।

इसी तरह सरकार ने मोबाइल फोन के पार्ट्स और बैटरी चार्जर पर शून्य से बढ़ाकर 2.5% आयात शुल्क लगाने का प्रस्ताव रखा है। इतना तो तय है कि इससे इन उत्पादों की कीमतें बढ़ेंगी, लेकिन इसके दाम पर कितना असर पड़ेगा, यह स्थिति साफ होने में अभी थोड़ा वक्त लगेगा। (तस्वीर सौजन्य- लोकसभा टीवी)

डेस्क

No comments