Breaking News

लालबालू लदे ट्रैक्टरों को पुलिस ने पकड़ा तो भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने कर दिया थाने का घेराव, जाने फिर क्या हुआ


बैरिया(बलिया) भाजपा विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह शनिवार की सुबह  साढ़े नौ बजे ही लालबालू परिवहन को लेकर थाने का घेराव कर डाला  उनका कहना था कि नियम एक होनी चाहिए । अगर बालू आ रहा है तो सबका आएगा नहीं आएगा तो किसी का नहीं आएगा । इस बात को लेकर डेढ़ बजे तक दोकटी थाने का घेराव किया। एसडीएम बैरिया प्रशांत कुमार नायक क्षेत्राधिकारी, आरके त्रिपाठी एसएच ओ दोकटी, अमित कुमार सिंह एस एच ओ बैरिया को अपने पास ही बैठाए रहे। घेराव के समय जिलाधिकारी बलिया फोन कर विधायक से बात की इसी बीच जब एसडीएम बैरिया बीच में ही उठकर न्यायालय जाने लगे तो विधायक ने कहा कि मैं थाने का घेराव किया हूं  जब तक मामले का  निपटारा नहीं होगा  कोई अधिकारी यहां से कहीं नहीं जाएगा  और विधायक समर्थकों के साथ जाकर एसडीएम के गाड़ी के पास के लिए  पुनः एसडीएम आकर कुर्सी पर बैठे  लगभग 3 घंटे बाद जब खनन अधिकारी योगेन्द्र भदौरिया वहां पहुचे तो आधे घंटे तक बन्द कमरे में अधिकारियों संग विधायक की वार्ता हुई। जिसमें विधायक यह कहते हुए बाहर निकले कि चलिए वैधानिक ढंग से ही बालू का परिवहन होगा और अपने समर्थकों के संग थाने से बाहर चले गए। वही पुलिस द्वारा पकड़े गए बालू लदे  दो ट्रैक्टरों को लेकर घेराव शुरू हुआ उन दोनों को पुलिस ने सीजकर आगे की कार्यवाई के लिए खनन विभाग को भेज दिया गया

उल्लेखनीय है कि दोकटी पुलिस ने शानिवार के तड़के ही भगवानपुर लालगंज मार्ग पर लाल बालू लदे दो ट्रैक्टरों को पकड़ लिया। इसकी सूचना बैरिया विधायक विधायक सुरेन्द्र सिंह को मिला अपने सैकड़ो कार्यकर्ताओ के साथ दोकटी थाने पर पहुचकर थाने का घेराव कर दिया। सूचना पर पहुचे उपजिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी, एस एच ओ बैरिया को भी थाने पर घेर दिए। विधायक का कहना था कि हमारे विधानसभा क्षेत्र में बिहार से बालू आता है वहा से ट्रक व ट्रैक्टर वैधानिक कागजात बनवाकर ही आते है अगर वह उत्तर प्रदेश में अबैध है तो निर्धारित कर जमा कराकर उन्हें उत्तरप्रदेश की सीमा में आने दिया जाय या फिर उत्तरप्रदेश की सीमा में प्रवेश ही न करने दिया जाए बाहर से ही बिहार में लौटा दिया जाय इस संदर्भ में जब उपजिलाधिकारी ने बताया कि इसकी लीगल जानकारी खनन अधिकारी दे सकते है उन्हें बुलवाया जा रहा है। उधर घेराव में जुटी भीड़ ने बहुत से ट्रैक्टर व ट्रक के चालक व मालिक भी शामिल थे जिनका आरोप था कि महुली घाट से सैकड़ो ट्रैक्टर बालू व मांझी घाट से सैकड़ो ट्रक लालबालू सम्बंधित विभागों के मिली भगत से धड़ल्ले से आता है।घर बनवाने,पंचायत भवन बनवाने व पंचायतों के काम के लिए लाने वाले ट्रक व ट्रैक्टर पकड़ लिए जाते है इनका धनदोहन होता है या चालान कर दिया जाता है। लगभग डेढ़ बजे खनन अधिकारी जब दोकटी थाने पर पहुचे तो उन्होंने बताया कि बिहार का जो कागजात है वह उत्तरप्रदेश में बैध नही है। लगभग आधे घंटे तक विधायक,उपजिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी व खनन अधिकारी की बन्द कमरे में वार्ता हुई बाहर निकलते ही विधायक ने कहा कि अब बालू वैधानिक ढंग से ही आएगा। जब अधिकारियों से बात की गई तो क्षेत्राधिकारी आर के त्रिपाठी ने बताया कि पकड़े गए ट्रैक्टरों को सीज कर रिपोर्ट खनन विभाग को भेज दिया गया। वही लालबालू परिवहन के संदर्भ में खनन अधिकारी योगेन्द्र भदौरिया ने बताया कि परिवहन के संदर्भ कहा कि बालू का परिवहन विधिक ब्यवस्था के तहत ही चलेगा। कहा कि शासन के निर्देश के अनुसार एक सचल दस्ता बनाया जाएगा।  इसके लिए अधिकारियों के संग बैठक कर दो सप्ताह के अन्दर विधिक ब्यवस्था से लालबालू लाने की ब्यवस्था कर दी गई।



रिपोर्ट : वी चौबे

No comments