Breaking News

दीन दुखियों की सेवा से बढ़कर कोई धर्म नहीं : नफीस अख्तर


दुबहर, बलिया : राष्ट्रीय राजमार्ग 31 के किनारे खुले आसमान के नीचे विगत कई वर्षों से जीवनयापन कर रहे डोम जाति के कई परिवार के लोगों का निवास प्रमाण पत्र घोडहरा के निवर्तमान प्रधान नफीस अख्तर ने बनवाया। उन्होंने बताया कि इसके बाद इन लोगों के आधार कार्ड बनवाकर, राशन कार्ड बनवाया जाएगा।  ताकि इन गरीब परिवार के लोगों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके। 

उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म में किसी भी व्यक्ति के जीवन के सोलह संस्कार बताए गए हैं जिसमें आखिरी संस्कार दाह संस्कार को माना जाता है।  इस संस्कार के बाद मृतक की आत्मा को मुक्ति हो जाती है।  अंतिम संस्कार के दौरान डोम बिरादरी की प्रमुख भूमिका होती है।  लेकिन आजादी के कई दशक बाद भी आर्थिक व सामाजिक रूप से इन जाति के लोगों को फायदा नहीं मिला है। 

इस मौके पर प्रमुख रूप से प्रेम शंकर गुप्ता, मुरारी पासी, दिलीप ठाकुर ,तूफानी ,सुमन देवी, गुलगुल, टिंकू ,अलगू आदि लोग मौजूद रहे।


रिपोर्ट:-नितेश पाठक

No comments