Breaking News

मुम्बई में प्राईवेट कंपनी में पोकलैड चालक के रूप में कार्यरत व्यक्ति के निधन से परिजनों में मचा कोहराम

 


रेवती (बलिया) मुम्बई में प्राईवेट कंपनी में पोकलैड चालक के रूप में कार्यरत स्थानीय थाना क्षेत्र के दलछपरा गांव निवासी मनीब साहनी 35 वर्ष के मंगलवार की सुबह असमायिक निधन का समाचार सुनते ही परिवार में कोहराम मच गया। परिवार में माता पिता की एक वर्ष पूर्व मृत्यु हो चुकी है। घर का एकमात्र कमाऊ सदस्य होने के कारण उसकी पत्नी दुर्गावती देवी ,दो नाबालिक बच्ची व एक लड़का कुल तीन बच्चे जास्मिन (3) , आदर्श(6) व सुन्दरी (8)वर्ष परिवार के भरण पोषण को लेकर मानों पहाड़ टूट पड़ा है । मृतक का एक छोटा भाई अमेरिका साहनी मुम्बई में ही मजदूरी करता है ने बताया कि हार्ट की शिकायत पर इनका प्राईवेट अस्पताल में तीन दिन से आई सी यू में  रख कर ईलाज चल रहा था। मंगलवार की सुबह निधन हो गया । खर्च (पैसा) के अभाव में यही मुम्बई में ही शव का अंतिम संस्कार किया जायेगा। पत्नी दुर्गावती देवी के चित्कार से आस पास के लोगों की आंखें भी नम हो जा रही है। दुर्भाग्य कहे या विडंबना उसे व बच्चों को मृतक का अंतिम दर्शन तक नही हो पाने का मलाल है। बार बार यही शब्द दुहरा कर कि कौन पाप कईनी की पति के अंतिम दर्शन (मुख) देखउ के नईखे मिलत । अब इ लइकन के कैसै पोषम ऐ माई कहकर पछाड़ लगा कर बेहोश हो जा रही थी। पास पड़ोस की महिलाओं के सांत्वना के बावजूद उसका करूण चित्कार बंद नही हो पा रहा है । गांव निवासी भोली साहनी ने बताया कि इस परिवार में बीते साल के अंदर माता पिता के साथ यह तीसरी मौत से उनका परिवार पूरी तरह टूट चुका है । समाजसेवी अंगद मिश्र फौजी ने मृतक परिवार को भरपूर मदद का आश्वासन दिया गया है ।


पुनीत केशरी

No comments