Breaking News

कोरोना जांच में रैपिड रेस्पांस टीम का करें सहयोग : मुख्य चिकित्सा अधिकारी

 


रिपोर्ट : धीरज सिंह


- कोविड पॉजिटिव और उसके परिवार से भेदभाव न करें


- टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन जरूरी


बलिया : कोविड के मामले बढ़ने के साथ ही जनपद में रेपिड रेस्पांस टीम (आरआरटी) सतर्क हो गई हैं। जांच के बाद कोविड पॉजिटिव होने की स्थिति में आरआरटी का काम शुरू हो जाता है। आरआरटी पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर सबसे पहले संबंधित के घर का दौरा कर यह तय करती है प्रभावित को होम आइसोलेशन में रखा जा सकता है या फिर उसे कोविड अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत है। दरअसल एसिम्टोमेटिक होम आइसोलेशन में रहकर ठीक हो सकते हैं बशर्तें उनके घर में इतनी जगह हो। यह सब देखने के बाद ही आरआरटी सलाह देती है कि आप घर में रहें या फिर अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत है। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा० राजेन्द्र प्रसाद का कहना है कि आरआरटी की सलाह मानें और उसके द्वारा पूछे जाने वाले सवालों के सही-सही जवाब दें। आपका यह सहयोग हमें इस बीमारी से लड़ने में मदद करेगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में 42 आरआरटी काम कर रही हैं। पॉजिटिव का उपचार शुरू कराने के साथ ही आरआरटी आसपास के घरों में सर्वे कर यह पता लगाने का प्रयास करती है कि किसी पड़ोसी में कोविड के लक्षण तो नहीं हैं। पड़ोसियों की भी जिम्मेदारी बनती है कि वह आरआरटी को सही-सही जवाब दें और पॉजिटिव आए व्यक्ति और उसके परिवार के साथ कोई भेदभाव न करें। उन्होंने कहा कोविड का प्रसार रोकने के लिए मास्क का इस्तेमाल और एक-दूसरे से कम से कम दो गज की शारीरिक दूरी जरूरी है, लेकिन इसका यह मतलब कदापि नहीं होना चाहिए कि कोविड पॉजिटिव व्यक्ति या उसके परिवार के साथ हम किसी तरह का भेदभाव करने लगें। कोविड-19 से हम सबको मिलकर लड़ना और इस कोरोना को हराना है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में कोविड अस्पतालों में 255 बेड आरक्षित किए गए हैं, जहां सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध हैं। इसलिए कोविड-19 से डरने की जरूरत नहीं है लेकिन सतर्कता जरूरी है। इसके लिए घर से बाहर कभी भी बिना मास्क लगाए न निकलें। ध्यान रहे कि तीन लेयर वाला मास्क हो और मुंह और नाक अच्छी तरह से ढके हों। सार्वजनिक स्थल पर दो गज की शारीरिक दूरी का पालन करें और बार-बार अपने हाथों को साबुन-पानी से धोते रहें। जहां यह संभव न हो वहां सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। अपनी बारी आने पर टीकाकरण अवश्य कराएं, लेकिन ध्यान रहे टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन जरूरी है। यानि मास्क और दो गज की दूरी टीकाकरण के बाद भी जरूरी है।

No comments