Breaking News

सोमवार को शाय चुनाव के दौरान दुबेछाप में हुयी चाकूबाजी की घटना में डॉ घनश्याम की मौत

 


सहतवार (बलिया)। सोमवार को शायं चुनाव के दौरान क्षेत्र के ग्राम सभा छपिया के दुबेछाप पुरवा में हुयी चाकुबाजी व मारपीट की घटना में डा घनश्याम मिश्र की ईलाज के लिए बलिया से वाराणसी जाते समय रात्रि में 12 बजे के करीब रास्ते में मौत हो गयी। सोमवार के सुबह 6 बजे के करीब ज्यो ही उनका शव एम्बुलेंस से सहतवार थाने पर पहुँचा। देखने के लिए लोगो का भीड़ जुटनी शुरू हो गयी। जो जहाॅ था वही से सहतवार थाने पर पहुंच गया। थोड़ी देर बाद घर के सदस्य भी पहुंच गये। उत्तजित लोग पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे।वे लोग इस घटना का सारा जिम्मेदार पुलिस को बता रहे थे।उन लोगों कहना था घायल घनश्याम मिश्र दस पन्द्रह मिनट तक मौके पर पड़े रहे लेकिन कोई उनको ईलाज के लिए नहीं ले गया। बाद में घर वाले ईलाज के लिए बलिया ले गये।  अचानक भीड़ को देखकर पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फुलने लगा। सहतवार थानाध्यक्ष ने तुरन्त इसकी सूचना अपने आला अधिकारियों को दी। सुचना मिलते ही तुरन्त एडिशन एस पी ,सीओ बाँसडीह सहित कई थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गयी। थोड़ी देर में भाजपा के पुर्व जिलाध्यक्ष  विनोद शंकर दुबे, कनक पाण्डेय, ओमप्रकाश सिंह, टप्पूसिह आदि अन्य लोग पहुँच गये।  लोगों को काफी समझाने बुझाने के बाद  मामला शांत हुआ।इस मामले में विनय मिश्र ने 19 लोगो के खिलाफ नामजद तहरीर ‌सहतवार थाने में दी है। पुलिस तहरीर लेकर मुकदमा दर्ज कर जगह जगह छापेमारी शुरू कर दी है। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बलिया भेज दिया।

      विनय मिश्र ने आरोप लगाया है कि मैं  वार्ड नं 8 से भाजपा के समर्थित प्रत्याशी हुँ। सोमवार को शाय 0 5- 30 बजे के‌ करीब हमारा भतीजा घनश्याम मिश्र मोटरसाइकिल से दुबेछाप बुथ से अपने घर लौट रहे थे अभी लगभग 150 मी दुर पहुँचे ही थे कि अचानक संगम, चन्दन, प्रवीण (कन्चन),रविशंकर,पुत्रगण राधारमण, दीपक,रामू,राजन पुत्रगण द्वारिका, आदि अन्य लोगों ने साजिश के तहत मिलकर लाठी,डण्डा,चाकु,भाला , से लैस होकर चुनावी रंजिश को लेकर मेरे भतीजे पर अचानक हमला बोलकर लाठी डंडे व चाकु से मारकर गम्भीर रूप से घायल कर दिया। जिसका इलाज के लिए वाराणसी ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया।


 रिपोर्ट- जेपी सिंह

No comments