Breaking News

Akhand Bharat

सैम्पल भेजे बिना जांच रिपोर्ट मिलना असम्भव, वायरल वीडियो में लगाए गए आरोप गलत

 


रिपोर्ट : धीरज सिंह


- *जिलाधिकारी के निर्देश पर सीएमओ ने की जांच कर साक्ष्य सहित दी रिपोर्ट


बलिया: कोरोना रिपोर्ट के सम्बन्ध में हरपुर निवासी राघवेन्द्र मिश्र द्वारा वायरल किए गए एक वीडियो की जांच जिलाधिकारी अदिति सिंह ने सीएमओ डॉ राजेन्द्र प्रसाद से कराई है। जांच में वीडियो में कही गई बात पूरी तरह निराधार और गलत मिली है।

पेशे से वकील राघवेंद्र मिश्रा ने भ्रामक वीडियो में आरोप लगाया है कि उनके परिवार के द्वारा कोविड सैंपल नहीं दिया गया, फिर भी पॉजिटिव व नेगेटिव की रिपोर्ट दे दी गई है। इसकी जांच सीएमओ डॉ राजेन्द्र प्रसाद ने खुद की है, जिसमें पाया गया कि सैम्पल लेने के बाद आरटीपीसीआर लैब भेजा गया, जहां से पॉजिटिव-निगेटिव की रिपोर्ट आई।

सीएमओ ने जिलाधिकारी को साक्ष्य सहित जांच रिपोर्ट दे दी है, जिसके अनुसार राघवेन्द्र मिश्र के भाई का सैम्पल 18 अप्रैल को लिया गया तो वे पॉजिटिव मिले। इसके बाद 20 अप्रैल को उनके संपर्क में आए सात सदस्यों की आरटीपीसीआर जांच हुई, जिसमें उनके माता-पिता (राजकुमारी मिश्रा व रमाकांत मिश्रा) पॉजिटिव मिले। इसके अलावा 23 अप्रैल को इनके संपर्क में आए 10 लोगों की आरटीपीसीआर जांच हुई तो 24 अप्रैल राजेंद्र मिश्रा की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। सीएमओ ने कहा है कि आरटीपीसीआर विधि से कराई गई है जिनके सैंपल बीएचयू भेजे जाते हैं और रिपोर्ट लैब से साझा की जाती है। ऐसे में सैंपल जाए बिना रिपोर्ट प्राप्त होना संभव ही नहीं है। इस प्रकार राघवेन्द्र मिश्रा द्वारा लगाए गए आरोप पूरी तरह निराधार और गलत पाया गया है।

No comments