Breaking News

Akhand Bharat

जिले की राजनिति का केंद्र बिंदु बना खनवर, विधायक उमाशंकर पर सबकी नजर

 


बेल्थरारोड, बलिया। जिला पंचायत का चुनाव 3 जूलाई को होना है। नामांकन भी शुरु हो चुका है। ऐसे में रसडा विधायक उमाशंकर सिंह का पैतृक गांव खनवर इन दिनों राजनिति का केंद्र विंदु बन गया है। कभी रात में तो कभी दिन में लालबत्ती लगी हूटर बजाती गाडियों के पहुंचने से हलचल बढ गई है। बसपा के कदावर नेता पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी के पुत्र आनंद चौधरी को जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए  सपा का प्रत्याशी घोषित किए जाने व अंबिका चौधरी के स्वंय बसपा को अलविदा कहने के बाद उन्हे घेरने की रणनिति खनवर से ही बनाई जाने लगी है। सूत्रों की माने तो भाजपा भी किसी भी कीमत पर यह सीट सपा के खाते में नही जाने देना चाहती है। इधर दो तीन दिनों से खनवर गांव में गैर सपा नेताओं की भीड देखी जाने लगी है। सूत्र यह भी बतातें हैं कि अंबिका के कदम से नाराज बसपा सुप्रिमों मायावती भी उमाशंकर सिंह को पूरी छूट दे रखी हैं। कयास लगाए जा रहें हैं कि अंबिका बनाम उमाशंकर की लडाई लडी जाएगी। दो दिन पूर्व जिले के एक कद्वावर मंत्री के खनवर पहुंच कर उमाशंकर सिंह से करीब एक घंटे गूप्तगू करना काफी कुछ कहने के लिए तैयार है। भाजपा के एक सांसद भी खनवर पहुंच कर विधायक से बातचीत कर चुके हैं।  राजनिति के जानकार बताते हैं कि भाजपा भी उमाशंकर सिंह को आगे कर सपा के रथ को रोकना चाहती है। उमाशंकर सिंह के मैदान में आ जाने से बलिया की यह लडाई रोचक हो चुकी है। 

विधायक उमाशंकर सिंह ने बात चीत में अंबिका चौधरी पर विश्वासघात करने का आरोप लगाया। कहा कि हमारा प्रमुख लक्ष्य अंबिका चौधरी व सपा प्रत्याशी को हराना है। इसके लिए चाहे जिस किसी पार्टी से सहयोग लेना पडेगा लिया जाएगा।


रिपोर्ट :- संतोष द्विवेदी

No comments