Breaking News

मानसून के शुरूआती चरण में ही संपर्क मार्गो का हाल बेहाल

 


रेवती (बलिया ) मानसून के शुरूआती चरण में  ही नगर क्षेत्र  के संपर्क मार्गों का हाल बेहाल  है । कही जल जमाव, कही कीचड़  तो कही क्षतिग्रस्त संपर्क मार्गो पर पैदल अथवा बाईक सवार आये दिन चोटिल होते रहते है। बाजार हाट, थाना, अस्पताल तक आने जाने के लिए संपर्क मार्गों पर चलना लोगों की मजबूरी है। आधा दर्जन से अधिक संपर्क मार्गो के अत्यधिक क्षतिग्रस्त होने से रेवती के व्यवसाय पर भी इसका गहरा असर पड़ रहा है। रेवती की जगह सीधे रामगढ, सहतवार व रानीगंज , बैरिया का लोग मजबूरी में रूख कर ले रहें है ।  

  रेवती बीज गोदाम से दतहां  टीएस बंधा जाने वाला संपर्क मार्ग घाघरा दियरांचल के लोगों  के लिए लाईफ लाईन का काम करता है। जोड़ा पुल से पहले बाणीगढ छोटी पुलिया के पास आधी सड़क कट फट गई है। शनिचरा मंदिर के पास सड़क  कटकर मात्र डेढ फुट बची है। आने जाने वाले अक्सर दुर्घटना  का शिकार होते रहते है । इस मार्ग से एक दर्जन गांवो के लोगों  का आवागमन लगा रहता है। इसी तरह रेवती से हडियाकला  व कुसौरीकला संपर्क मार्ग से आना जाना दुर्घटना को आमंत्रित करने के समान है। फिर भी लोग विवशता में आते जाते है। रेवती मुख्य मार्ग से रेलवे स्टेशन व कोलनाला कुण्ड से दलछपरा श्रीनगर जाने वाला मार्ग भी काफी जर्जर व क्षतिग्रस्त है। संपर्क मार्गो के खस्ताहाल के चलते नगर क्षेत्र का विकास कार्य अवरूद्ध है । जिम्मेदार मौन साधे हुए है ।


पुनीत केशरी

No comments