Breaking News

Akhand Bharat

साहस ,शौर्य की प्रतीक होती है महिलाएं:- डॉ०अपराजिता उपाध्याय



दुबहर/बलिया : जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय महिला अध्ययन केंद्र के तत्वावधान में नारी शक्ति विषयक पर क्षेत्र के नगवा गांव में  पंचायत भवन पर एक संगोष्ठी संपन्न हुई।

कार्यक्रम की शुरुआत माँ सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित करके हुआ। 

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि जननायक चन्द्रशेखर विश्विद्यालय के सहायक प्रोफेसर डॉ अपराजिता उपाध्याय ने कहा कि 

नारी शब्द ही नर की अपेक्षा अधिक गरिमामय है। नारी पुरुष से कहीं अधिक सशक्त है और उसके सशक्तिकरण से ही पुरुष का सशक्तिकरण भी संभव है ; क्योंकि स्त्री ही पुरुष की प्रेरणा है।  अतः नारी सशक्तिकरण का संकल्प समय की माँग भी है। कहा कि नारी साहस ,शौर्य की प्रतीक होती है। 

डॉ० वंदना ने कहा कि सम्पूर्ण विश्व मे नारी को शक्ति के रूप में प्रतिष्ठा मिली है। 

ग्राम प्रधान प्रतिनिधि भुवनेश्वर पासवान ने कहा कि देश की उन्नति में महिलाओं का विशेष योगदान है। आज समाज के हर क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों की बराबरी कर रही हैं। हर कदम पर पुरुषों का साथ देते हुए देश के चहुंमुखी विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। इस मौके पर प्रमुख रूप से अभिषेक राय,रंजू यादव ,कृतिका पांडे, प्रीतम प्रजापति, मनीष ,शिवम पांडे ,गोविंद यादव, दीपक पासवान ,रंभा देवी ,गीता देवी, प्रमिला ,माया ,दुर्गावती, निर्मला, अनीता आदि लोग मौजूद रहे।  संचालन टीम लीडर नंदिनी सिंह तथा अध्यक्षता ग्राम प्रधान सुमित्रा देवी ने किया।


रिपोर्ट:-नितेश पाठक

1 comment: