Breaking News

उपेक्षा से आहत हुआ बलिया का छात्र, फांसी लगाकर दी जान

 





रेवती (बलिया ) : सीबीएसई के दसवी बोर्ड परीक्षा में कम अंक आने के कारण नगर  के समाजसेवी व भाजपा नेता अतुल कुमार पांडेय उर्फ बबलू के इकलौते बेटे 17 वर्षीय अंश ने गले में फंदा लगा कर मौत को गले लगा लिया । इस घटना से पूरे परिवार में कोहराम मत गया वही पूरे नगर में शोक की लहर छा गई । 

गत मंगलावार को रिजल्ट में कम अंक देख अंश ने अपनी मायूसी परिजनों को महसूस नही होने दी । पिता के संग रात 8 बजे बाजार से घूम कर घर आया । सब कुछ सामान्य देख परिजन अपने दैनिक कार्यो में लग गये । इसी बीच रात साढ़े आठ बजे कमरे में जाकर गले में फंदा लगा लिया ।  आनन फानन में परिजन उसे सीएचसी रेवती पर लाये जहां डाॅ. द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया। घटना की खबर लगते ही बबलू पांडेय के आवास पर लोगो का तांता लग गया । माता कुसुम देवी व इकलौती छोटी बहन कुंजन का रोते रोते बुरा हाल हो गया । पिता अचानक हुए इस हादसे के बाद से गुमसुम से हो गये है । मृतक अंश स्थानीय मनः स्थली एजुकेशन सेंटर का छात्र था।


कम अंक आने से फांसी लगा कर हुई छात्र की मौत से आक्रोशित छात्रो ने रेवती बैरिया मार्ग को किया जाम 

रेवती (बलिया ) :सीबीएसई के दसवी में 46.2% अंक प्राप्त होने की वजह से नगर के समाजसेवी बब्लू पाण्डेय के इकलौते बेटे 17 वर्षीय अंश द्वारा फंदे पर झूल कर हुई मौत से आक्रोशित छात्रो ने बुधवार के दिन मनःस्थली एजुकेशन सेंटर रेवती के समाने रेवती - बैरिया मार्ग पर धरना के साथ सड़क जाम कर दिया । जिससे सड़क के दोनो तरफ वाहनो की कतार लग गई । 

छात्रो का आरोप था कि स्कूल द्वारा गलत डाटा भेजे जाने से अंश का मार्क कम आया जिसके चलते उसकी मौत हुआ। छात्रो ने  मांग किया कि मृत छात्र के परिजनो को 10 लाख रूपये मुआवजा ,  स्कूल प्रांगण में उसकी प्रतिमा स्थापित करने तथा स्कूल प्रशासन द्वारा अलग से आर्थिक सहायता पीड़ित परिवार को दिलाये जाने की मांग की । उधर विद्यालय के प्रधानाचार्य चन्द्रमोहन मिश्र का कहना था कि कक्षा 9 और दसवी के प्री बोर्ड के अंक बोर्ड में भेजा गया था। उसी के अनुरुप रिजल्ट आया है। इसमे विद्यालय निर्दोष है। अगर गड़बड़ी हुई होगी तो बोर्ड जिम्मेंदार है। मौके पर पहुंचे एसएचओ यादवेन्द्र पाण्डेय व प्रबंधक डा. अरुण प्रकाश तिवारी ने भी छात्रो को समझाने का प्रयास किया लेकिन छात्र जिद पर अड़े हुए थे। बाद में सूचना पर पहुंचे एस डी एम बैरिया अभय कुमार सिंह , सीओ बैरिया राजेश कुमार तिवारी ने छात्रो से कई चक्र वार्ता की । कहा कि आर्थिक सहायता के लिए शासन से संस्तुति की जायेगी । विद्यालय में मृतक लड़के की प्रतिमा लगाना उचित नही कहा जायेगा । किन्तु छात्र जिद पर अड़े रहे । तीन घंटा चले धरना प्रदर्शन के दौरान छात्रो ने विद्यालय की गेट को हिलाना शुरू किया तो अंत में पुलिस ने सख्ती करते हुए दो युवको को हिरासत मे ले लिया । इसके बाद हल्का बल (सख्ती) का प्रयोग कर धरना व जाम समाप्त कराया ।




 By: पुनीत केशरी

No comments