Breaking News

जब तक नारी सुरक्षित नहीं होगी, भारत सशक्तीकरण की दिशा में आगे नहीं बढ़ सकता: डॉ उर्मिला

 


बेल्थरारोड, बलिया। राष्ट्रीय सेवा योजना एवं जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय बलिया द्वारा संचालित वोमेन स्टडी सेंटर के संयुक्त तत्वाधान में श्री नरहेजी स्नात्तकोतर महाविद्यालय नरही में शनिवार को मिशन शक्ति फेज 3 के तहत नारी स्वावलंबन पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसका विचार बिंदु सुरक्षित नारी सशक्त नारी था। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि मथुरा महाविद्यालय रसड़ा की पूर्व प्राचार्या डॉ उर्मिला सिंह ने मां सरस्वती के छायाचित्र पर पुष्पार्चन एवं दीप प्रज्वलित कर  किया।

                 अपने संबोधन में डॉ उर्मिला सिंह ने रामायण महाभारत कालीन नारियों की चर्चा करते हुए उनकी स्वाधीनता और उनके सुरक्षित व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। कहा कि जब तक नारी सुरक्षित नहीं होगी तब तक भारत सशक्तिकरण की दिशा में आगे नहीं बढ़ सकता। विशिष्ट अतिथि ग्रामप्रधान मानती राजभर ने कहा कि भारत सदा नारियों की पूजा करता रहा है। हमें अपनी परंपरा एवं संस्कृति का पालन करना होगा, तभी भारत अपना पूर्व रूप प्राप्त कर सकता है और विश्व गुरु बन सकता है। पीजी कालेज की प्रबंधक श्रीमती मंजू सिंह ने महाविद्यालय के भविष्य में नारियों के सुखद एवं मंगलमय भविष्य की कामना करते हुए कहा कि नरहेजी परिवार सदा अपने कर्म पथ पर आगे बढ़ता रहेगा और नारियों एवं बालिकाओं को स्वालंबन की दिशा में प्रेरित करता रहेगा। कार्यक्रम अधिकारी डॉ श्वेता सिंह ने अतिथियों को अंगवस्त्रम प्रदान कर तथा माल्यार्पण किया । संगोष्ठी में डॉ बलिराम राय,डॉ अच्युतानंद चौबे, डॉ विकास राय ,डॉ शोभा मिश्रा, प्रदीप कुमार मिश्रा,धनंजय शर्मा ने अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम अधिकारी डॉ कृष्ण मोहन सिंह ने किया।


रिपोर्ट :- संतोष द्विवेदी

No comments