Breaking News

मनाया गया जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा

 



 इस वर्ष की  थीम थी “आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी”          

            

- जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा में 106 लोगों ने अपनाई नसबंदी।


बलिया : जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा में 106 लोगों ने अपनाई नसबंदी। जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े के दौरान 11 से 24 जुलाई तक गर्भ निरोधक साधन उपलब्ध कराने के लिए अभियान चलाया गया। इससे पहले आशा कार्यकर्ताओं ने दंपति संपर्क अभियान के दौरान परिवार नियोजन के फायदे बताये और दंपत्तियों को परिवार नियोजन के अस्थाई और स्थाई साधन अपनाने के लिए प्रोत्साहित  भी किया। 

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी /परिवार कल्याण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ० सुधीर कुमार तिवारी ने बताया कि जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े में 105 महिलाओं ने नसबंदी कराकर परिवार नियोजन के स्थाई साधन अपनाये। इसके अलावा दो बच्चों के बीच में सुरक्षित 3 साल का अंतर रखने के लिए महिलाओं ने अस्थाई साधन को भी अपनाया। पखवाड़े के दौरान जनपद में कुल 166 महिलाएं प्रसव पश्चात (पीपीआईयूसीडी) और 119 महिलायें  इंटरवल आईयूसीडी अपना चुकी हैं । 2231 महिलाओं ने सप्ताहिक  गर्भनिरोधक गोली छाया ली है। इसके अलावा जनपद में कुल 240 महिलाएं अंतरा तिमाही गर्भ निरोधक इंजेक्शन लगवा चुकी हैं। 

उन्होंने बताया कि अंतरा इंजेक्शन परिवार नियोजन का विकल्प बनकर उभरा है ।अंतरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन हर तीन माह में लेना होता है। अंतरा को लेकर यदि किसी महिला के मन में कोई आशंका है तो उसका निवारण करने के लिए स्वास्थ्य विभाग का टोल फ्री नंबर है। 104 नंबर पर कॉल करके महिलाएं अपनी जिज्ञासा को साझा कर सकती हैं ,और उसका समाधान भी पा सकती हैं। उन्होंने  बताया कि इसी नंबर पर सप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया के बारे में भी जानकारी हासिल की जा सकती है। इतना ही नहीं पहला इंजेक्शन लगवाने के साथ महिलाएं 104 नंबर पर डायल कर अपना नाम रजिस्टर कराएं ताकि उन्हें समय से इंजेक्शन सम्बन्धी जानकारी मिलती रहे। अगली बार इंजेक्शन लगवाने की तारीख की जानकारी भी इस नंबर से समय रहते दी जाएगी और 104 नंबर पर दी गई सभी सूचनाएं गोपनीय रखी जाती हैं। महिलाएं सुबह 8:00 बजे से रात 9:00 बजे तक निःशुल्क कॉल कर सकती हैं।



रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments