Breaking News

परसोत के पानी से बाढ़ सी बनी हालत

 


रेवती (बलिया ) स्थानीय ब्लाक के खानपुर , डुमरिया से अघैला , कंचनपुर , केवा , पियरौटा , चौबेछपरा , छेड़ी , नवाबारा , दलछपरा , श्रीनगर , बघमरिया , झरकटहां , भाखर, दत्तहा , भैसहा , मरौटी , हडियाकला , कुसौरीकला , भोजछपरा आदि ग्रामसभाओ में परसोत के पानी के चलते हजारों एकड़ कृषि योग्य भूमि जलमग्न हो चुकी है । धान व मक्के की खेती भी नही हो पाई । खेतों में तीन से चार फुट पानी भर जाने से बाढ़ सी हालत उत्पन्न हो गई है । बीते वर्ष इसी तरह के जल जमाव होने पर क्षेत्र के विजय ओझा , रमाशंकर सिंह , विरेश कुमार तिवारी , अशोक यादव आदि ने देवपुर मठिया रेगुलेटर पर लगे सिल्ट व हनुमानगंज के पास बने अवरोध को खोलवाने के लिए धरना प्रदर्शन किया गया था । एस डी एम द्वारा सिल्ट की सफाई के साथ अवरोधक हटवाने के बाद खेतों का पानी रेगुलेटर पुल से सरयू में गिरने के बाद लोगो को जलजमाव से मुक्ति मिली । 

इस बार की स्थिति कुछ दूसरे तरीके की है । पूरे क्षेत्र के एक चौथाई खेती योग्य भूगी जलमग्न हो चुकी है । देवपुर मठिया रेगुलेटर पुल से सरयू के पानी के हो रहे लगातार रिसाव से पहले से मौजूद परसोत के पानी का लेवल बढने से आधा दर्जन से अधिक संपर्क मार्ग पानी से डूब गये है । कई गांवों की बस्तियां भी पानी से पूरी तरह घिर चुकी है । लोग का आवागमन कम होने से रेवती का व्यवसाय भी प्रभावित हो रहा है । किसान व मध्यम वर्ग के व्यवसायियों को परिवार के भरण पोषण को लेकर गंभीर स्थिति उत्पन्न होती जा रही है ।


पुनीत केशरी

No comments