Breaking News

दीयारे क्षेत्र में कच्ची शराब का फलफूल रहा काला कारोबार, कच्ची शराब बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करना भूली पुलिस

 


रिपोर्ट : धीरज सिंह


--पुलिस की कार्रवाई के बाद भी आदत से बाज नहीं आ रहे तस्कर


बलिया। बलिया पुलिस सरकारी शराब, बीयर, बार व गाजा आदि की दुकानों पर छापेमारी तो कर रही है, लेकिन दीयारे क्षेत्र में व्यापक स्तर पर बन रहे हैं कच्ची शराब के विरुद्ध कोई करवाई नहीं कर रही है। मनियर थाना क्षेत्र के टुकड़ा नम्बर दो है, जहां वर्तमान में भट्ठी पर कच्ची शराब बनाई जा रही है, लेकिन इनको पूछने वाला कोई नहीं है। पुलिस की सांठगांठ से काला कारोबार फलफूल रहा है।


रेवती के दियारा एवं आसपास के गांव तथा मनियर क्षेत्र के टीएस बंधा, मनियर कस्बा व थाने से 100 मीटर की दूरी पर अवैध रूप से कच्ची शराब बनाई जाती है। सुखपुरा थाना क्षेत्र के बसंतपुर समेत आसपास गांवों में कच्ची शराब का कारोबार लघु उद्योग के रूप में धारण कर लिया है। वर्तमान में पिछले कुछ वर्ष से यहां महिलाओं के धरना प्रदर्शन के बाद बंद चल रहा है। बांसडीहरोड के डुमरिया, मनियर जसांव, भूइली, शेर, छाता, आसचौरा, मिश्रौली, सोनौली, कुवर जसांव, सराक के अलावा पुलिस पिकेट से 50 मीटर की दूरी पर कच्ची शराब बिकती है। सिकंदरपुर के दियारा, सीसोटार, लीलकर, खरीद, कथौड़ा, डूहाबिहरा स्थानों पर कच्ची शराब बनाई जा रही है।


इस बाबत एसपी राजकरन नय्यर ने बताया कि जिले में कच्ची शराब बनाने व बेचने वालों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया गया है। हजारों लीटर कच्ची शराब व भी पुलिस ने नष्ट कर दर्जनों लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

No comments