Breaking News

कटहल नाले के पानी से किसान हो रहे बर्बाद : विमल पाठक



दुबहर, बलिया । कटहल नाले के पानी से अपने उपजाऊ खेतों को बचाने के लिए दुबहर क्षेत्र के दर्जनों गांव के गंगातीरी किसानों ने नगवा स्थित चित्रसेन बाबा के मंदिर में बैठक कर इसके लिए आंदोलन करने पर चर्चा की । बैठक को संबोधित करते हुए प्रधान संघ के मंडल अध्यक्ष विमल पाठक ने कहा कि हमारी सैकड़ों बीघे की उपजाऊ जमीन जिसमें हरी सब्जी जैसे भिंडी ,बरबटी ,नेनुआ, सत्पुतिया ,बैगन ,पालक एवं परवल की खेती होती थी। जो इस क्षेत्र के किसानों की आयका एक प्रमुख साधन हुआ करता था। वह कटहल नाले के पानी के कारण लगभग 300 एकड़ से भी अधिक भूमि कृषि योग्य नहीं रह पाई है । गटर नाला का काजल जमुआ ग्राम सभा से लेकर नगवा, जनारी, पांडेपुर भेलसर, भीम रश्र भीम पट्टी सुजानीपुर ओझा कछुआ आदर्श सांसद गांव ओझवलिया  तक कटहल नाले का गंदा पानी गंगा नदी से होते हुए पूरे क्षेत्रमें फैल रहा है।जिससे प्रत्येक वर्ष हम लोगों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। क्षेत्र के नागरिकों के लिए कृषि ही एकमात्र आय का स्रोत है नहीं कोई उद्योग धंधे हैं और नहीं पर्यटन ऐसे में क्षेत्र के लोगों के लिए कृषि ही एकमात्र आय का साधन है। बैठक में उपस्थित किसानों ने बड़े ही सख्त रूप से कहा कि इसके लिए हम लोगों को चाहे अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों का दरवाजा खटखटाना पड़े तो हम पीछे नहीं हटेंगे । बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि आगामी 13 सितंबर को क्षेत्र के दर्जनों गांव के किसान ट्रैक्टर पर सवार होकर जिलाधिकारी से मिलने कलेक्ट्रेट स्थित उनके कार्यालय पर जाएंगे । जहां वह अपनी समस्या के निदान के लिए प्रमुखता से गुहार लगाते हुए इसके स्थाई समाधान की मांग करेंगे । बैठक में मुख्य रूप से नगवा के प्रधान प्रतिनिधि भुनेश्वर पासवान ,चंद्र कुमार पाठक, धर्मेंद्र यादव , के के पाठक ,बृजेश यादव ,मनीष पांडे, मनोज ठाकुर, विनोद पासवान, लक्की सिंह ,अंबिका पांडे, अखिलेश पांडे, विनोद पाठक छोटेलाल राम, राजेश पाठक संजय गिरी, शशिकांत ओझा सुनील पांडे निर्मल पांडे, दीपक पांडे ,विजय पाठक, शिव शंभू पाठक ,जीउत वर्मा आदि रहे ।  बैठक की अध्यक्षता किसान विष्णु देव पांडे ने किया ।


रिपोर्ट:-नितेश पाठक

No comments