Breaking News

Akhand Bharat

गर्भवती महिला को तनाव मुक्त एवं खुश मिजाज रहना बच्चे को देता है तन्दुरुस्ती : डा० अख्तर

 


रतसर (बलिया ) प्रधानमन्त्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत हर माह की नौ तारीख को आयोजित किया जाने वाला सुरक्षित मातृत्व दिवस हरितालिका तीज के व्रत अवकाश के चलते आयोजन तिथि में परिवर्तन कर 10 सितम्बर को मनाया गया। इसी क्रम में स्थानीय सीएचसी पर शुक्रवार को प्रधानमन्त्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अन्तर्गत गर्भवती महिलाओं की जांच के लिए कैम्प लगाया गया। इस दौरान सीएचसी प्रभारी डा० राकिफ अख्तर ने विशेष तौर पर हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं की रिर्पोट देखी और उन्हें जरूरी सलाह दी। डा० अख्तर ने कहा कि गर्भवती महिलाओं के लिए जितना जरूरी पौष्टिक आहार लेना होता है उतना ही जरूरी खुद को तनाव मुक्त रखना भी होता है। गर्भावस्था के दौरान यदि महिला तनाव में रहती है तो इससे उसका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है और यह कई तरह की समस्याओं का कारण बनता है। यदि इस दौरान महिला खुश मिजाज रहती है तो गर्भ में पल रहे बच्चे के स्वास्थ्य पर इसका सार्थक प्रभाव पड़ता है। कैम्प के दौरान बीपीएम आशुतोष सिंह ने गर्भवती महिलाओं को फल देकर पौष्टिक आहार लेने और फल खाने का संदेश दिया। इस अवसर पर डा० सोफिया, गोपाल जी पाण्डेय, पियुष बाबू, मनीष मेहरोत्रा,अनिल कुमार, स्टाफ नर्स प्रीति पाण्डेय, गिरीश सिंह एवं पूनम गुप्ता मौजूद रहे।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments