Breaking News

Akhand Bharat

बलिया में उमड़ा आस्था ‌का जनसैलाब, कार्तिक पूर्णिमा पर बम-बम हुई भगु नगरी

 






बलिया। पहले शिवरामपुर घाट पर गंगा में आस्था की डुबकी फिर महर्षि भृगु की समाधि स्थल का दर्शन-पूजन और उसके बाद ददरी मेला के मीना बाजार में खरीदारी। शुक्रवार को जनपद समेत गैरजनपदों व पड़ोसी राज्य बिहार के सीमावर्ती इलाकों से आए श्रद्धालुओं यही क्रम रहा। जिससे अल सुबह से महर्षि भृगु की तपोस्थली आस्था से बम-बम करती नजर आई। बच्चे, बड़े, बूढ़े और महिलाएं किसी ने इस अवसर को नहीं चूका और सभी ने कार्तिक पूर्णिमा के दिन शिवरामपुर घाट पर गंगा में गोता लगाकर अपने को धन्य किया। वैसे तो यह सिलसिला बृहस्पतिवार की मध्य रात्रि के बाद से ही शुरू हो गया था, जो शुक्रवार की दोपहर तक अनवरत चलता रहा।


गंगा की रेती पर जुटी भीड़ गंगा मईया के प्रति कितनी आस्थावान रही, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि स्नान के बाद लोगों ने मोक्षदायिनी की आरती उतारी व भगवान भाष्कर को अर्घ्य दिया। इस दौरान लोगों का उत्साह भी गजब का था। दूर-दराज से आई भीड़ ने रात में गंगा की रेत पर लगे तम्बू-शमियाना में बैठकर कल्पवास किया फिर मध्य रात्रि के बाद से पवित्र स्नान का सिलसिला शुरू हुआ। स्नान को लेकर नगरपालिका के साथ जिला व पुलिस प्रशासन की व्यापक तैयारियों का ही असर था कि स्नान के दौरान कहीं भी-कभी भी किसी प्रकार की दिक्कत स्नानार्थियों को नहीं आयी। न तो घाट तक आने-जाने में किसी प्रकार की जाम या अन्य परेशानी हुई और न ही गंगा तट पर। मार्गों पर पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था थी तो सुरक्षा के मद्देनजर चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान भी बेहद सतर्क दिखे।


---------


बालेश्वर मंदिर समेत देवालयों में रही भीड़


कार्तिक पूर्णिमा अवसर पर जनपद के अलावा गैर जनपद के लाखों की संख्या में आई महिला व पुरुष श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी के उपरांत महर्षि भृगु व दर्दर मुनि की समाधि स्थल व बाबा बालेश्वर नाथ का दर्शन किया। इसके अलावा नगर में स्थित अन्य मंदिरों में भी श्रद्धालुओं ने पूजन -अर्चन करने का अवसर नहीं चूका


------


ददरी मेला में रही भीड़


मंदिरों में दर्शन पूजन के उपरांत श्रद्धालुओं ने ददरी मेले में जमकर खरीददारी की तथा झूला,चर्खी व सर्कस का लुत्फ उठाया। इस दौरान दुकानदारों के चेहरें खिलें नजर आए। हालांकि मेले का पहला दिन होने और भूमि आवंटन में विलंब होने के कारण अभी भी कई दुकानदार अपनी दुकानें नहीं खोल पाएं है। इस कारण उन्हें पहले दिन व्यवसाय करने से महरुम होना पड़ा।


--------


चप्पे-चप्पे पर तैनात रहे पुलिसकर्मी


कार्तिक पूर्णिमा के दिन होने वाले स्नान को लेकर जिला प्रशासन पहले से चौकन्ना था। यहीं कारण रहा कि गंगा घाट, मंदिरों व सार्वजनिक स्थानों पर लगी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए नगर के विभिन्न मार्ग तथा महावीर घाट से शिवरामपुर घाट तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस कर्मी तैनात दिखे। कार्तिक पूर्णिमा स्नान व ददरी मेला को सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट अदिति सिंह ने 16 सेक्टर में विभाजित कर सेक्टवार मजिस्ट्रेट तैनात कर दिया था। इसके अलावा सात जोनल मजिस्ट्रेट को तैनात किया गया था। जिसमें 16 मजिस्ट्रेट व 16 सेक्टर पुलिस अधिकारी तैनात रहे। इसके अलावा पीएसी, एनडीआरएफ व अश्वरोही तैनात रहे। वहीं जनपद के अलावा वाराणसी, मऊ, आजमगढ़, जौनपुर, मिर्जापुर, चंदौली, भदोही जिले की पुलिसफोर्स तैनात रही। इसके अलावा खुफिया विभाग के अधिकारी व कर्मचारी नगर से लेकर स्नान घाट तक भ्रमण करते हुए प्रत्येक गतिविधियों पर नजर रखे हुए थे।


-----


घाट पर नावों से हुई निगरानी


कार्तिक पूर्णिमा स्नान करने आएं श्रद्धालुओं की सुविधा व सुरक्षा के मद्देनजर महावीर घाट से लेकर शिवरामपुर घाट तक जगह-जगह बैरिकेडिंग, नावों की व्यवस्था, जीवन रक्षक दवाओं के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को भी तैनात किया गया था। इसके अलावा मेले में भी मेलार्थियों की सहूलियत के लिए जगह-जगह शिविर लगाए गए थे।


--------

शिविर लगा बांटा दातून व दवा


गुरु नानक जयंती एवं कार्तिक पूर्णिमा के पावन प्रकाश उत्सव पर लोक जनशक्ति पार्टी के नेता सागर सिंह नागेंद्र द्वारा सहायता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में चाय, बच्चों के लिए दूध, बिस्किट, पानी, दातुन और दवा आदि का वितरण किया गया। इस अवसर पर सुनील पासवान, झूलन अंसारी, उदित, उमेश पासवान, गुरु रतन सिंह एडवोकेट, संजय सिंह, डॉ. एस पांडे, भरत वर्मा, लखन रावत, दीपक रावत, आर्यन जी, धीरज जी, राकेश सैनी, छबीला पासवान, पूनम सिंह, प्रियंका जायसवाल आदि रहे।


------


बैरियर पर यातायात व सिविल पुलिसकर्मी रहे मुस्तैद


बलिया। नगर में जाम न लगे और यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित रहे। इसके लिए नगर के विभिन्न मार्गो पर लगाए बैरियर पर पुलिसकर्मी मौजूद रहे। इस दौरान राजधानी रोड पर माल्देपुर, बैरिया रोड पर पिपरा ढांला, बांसडीह पर तिखमपुर मंडी, सिकंदरपुर रोड पर बहादुरपुर, गड़वार रोड पर पौहाड़ीपुर में बैरियर पर यातायात पुलिस संग सिविल पुलिसकर्मी मुस्तैद रहे।


--------


जगह-जगह चला भंडारा, लोगों ने किया प्रसाद ग्रहण


बलिया। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर गुरुवार की रात व शुक्रवार को नगर से लेकर शिवरामपुर गंगा घाट तक विभिन्न समाजसेवियों व समितियों द्वारा स्नान करने आए श्रद्धालुओं के लिए जगह-जगह भंडारे का आयोजन किया गया था। जहां रात और दिन में लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। इसके अलावा समितियों द्वारा चाय, पानी, दवा आदि की व्यवस्था की गई थी। नगर के जनता मार्केट के पास समाजसेवी बब्बन पांडेय, भृगु आश्रम, जापलिनगंज नया चौक, शहीद चौक सहित शिवरामपुर घाट तक भंडारे का आयोजन किया गया था, जिसमें हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।


--------


रेलवे स्टेशन व रोडवेज बस स्टैँड पर यात्रियों की लगी भीड़


बलिया। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर रेलवे स्टेशन, रोडवेज बस स्टैँड सहित अन्य प्राइवेट वाहन स्टैंडों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। इस दौरान कुछ श्रद्धालु अपने न‌िजी वाहन तो कुछ सवारी ढोने वाले वाहनों से यात्रा की। आलम यह रहा कि रेलवे स्टेशन, रोडवेज बस स्टैंड समेत अन्य वाह‌न स्टैंडों पर श्रद्धालुओं को चढ़ने व उतरने में काफी मशक्त करनी पड़ी। वहीं वाहन संचालकों की चांदी रही। यह सिलसिला देर रात तक चलता रहा।


-------


गंगा महोत्सव में बही सुरों की सरिता, गोता लगाते रहे लोग


 कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर बृहस्पतिवार की देर शाम जनेश्वर मिश्रा सेतु के पास आयोजित गंगा महोत्सव में दर्जनों प्रसिद्ध कलाकारों ने गायकी से श्रोताओं को खूब झूमाया। देर रात तक लोग गीत-संगीत की सरिता में गोता लगाते रहे। सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन कथावाचक पं.जयगणेश चौबे "जयकांताचार्य" ने दीप प्रज्वलित करके किया। इस दौरान मशहूर लोकगीत गायक बंटी वर्मा, दो छोटी बहनों आरात्रिका और आकर्षिता ने भजन सुनाकर सुनाकर खूब तालियां बटोरी। इसके बाद गायिका आराधना सिंह, काशी ठाकुर, गायक विजय बहार, खुशबू राय, अंजनी चौबे, अभय सिंह, गोपाल मिश्रा, चंदन सिंह, पप्पू पांडे, रिंकू राय, माया यादव, ब्रजेश रैना, कृष्णा यादव आदि ने भी अपने गीतों की प्रस्तुति कर शमा बांधे रखा। इस दौरान पूर्व ब्लाक प्रमुख दिनेश पाठक एवं आयोजक आदित्य पाठक ने संयुक्त रूप से सभी कलाकारों को माल्यार्पण कर अंगवस्त्रम् एवं सम्मान प्रमाण- पत्र देकर सम्मानित किया।


इस मौके पर राजेश गुप्ता, सपना पाठक, लालू पाठक, जागेश्वर मितवा,अरुणेश पाठक, रामकृष्ण तिवारी, लालमणि सिंह,अनिल पाठक, हरिशंकर पाठक, पन्नालाल गुप्ता, शुभम पाठक, सुनील पाठक, धीरज यादव आदि मौजूद रहे। -----


स्नान के बाद लिया चटनिया मेला का लुत्फ


 कार्तिक पूर्णिमा पर शुक्रवार को भोर से ही श्रद्धालुओं का हुजूम मंगल गीत गाते हुए क्षेत्र के दयाछपरा - नौरंगा गंगा घाट पर पहुंचने लगा। वहां पवित्र गंगा नदी में डुबकी लगाने के बाद भगवान भास्कर व जगत जननी मां तुलसी की दर्शन पूजन के बाद घाट पर आयोजित विष्णु महायज्ञ में यज्ञ मंडप का परिक्रमा करके पुण्य लाभ अर्जित किया। साथ ही परंपरागत चटनिया मेला में युवक व युवतियों ने छोला, जलेबी आदि का लुफ्त उठाया। सबसे ज्यादा परेशानी स्नानार्थियों को दयाछपरा-राष्ट्रीय राजमार्ग 31 के बाद वर्षो से प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना पर केवल गिट्टी फेंकी गई थी इस गिट्टी पर चलने से हुई।





रिपोर्ट-धीरज सिंह, नीतेश पाठक

No comments