Breaking News

Akhand Bharat

परमेश्वर हत्याकांड के पांच दिन बाद भी नही हुआ हत्या का खुलासा

 


रेवती (बलिया ) दिघार ग्राम निवासी परमेश्वर हत्याकांड के मामले में पुलिस पांच दिन बाद भी हत्यारों तक पहुंचने में सफल नही हो पायी। शव मिलने के दो दिन बाद परिजनो के शिनाख्त करने के उपरांत मुकदमा दर्ज कर पुलिस तहकीकात में जुटी हुई है।

बताया जाता है कि इस घटना की वजह स्पष्ट न हो पाने से खुलासा करने में विलम्ब हो रहा है। परिवार के लोग केवल इतना बता रहे है कि सुर्ती खरीदने के लिए घर से 26 नवम्बर को पचरुखिया चट्टी को निकला था। जबकि 28 नवम्बर को पुलिस ने पियरौटा से शव बरामद किया था। शव को जंगली जानवरों व कुत्तों ने काफी क्षतिग्रस्त कर दिया था इस कारण उस समय उसकी शिनाख्त नही हो पायी थी । घटना के दूसरे दिन  पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे परिजनों ने उसके कपड़े व शरीर पर बने सफेद दाग से उसकी शिनाख्त की ।  दिघार और पचरुखिया से पियरौटा की दूरी 3 किमी है। वह पियरौटा क्यो पहुंचा ? यह यक्ष  प्रश्न है। शव को मौके पर ज्वलनशील पदार्थ से जलाया भी गया था। पोस्टमार्एटम रिपोर्ट में  एन्टी मार्टम इंजरी मौत से पहले जला होना बताया जाता है । सूत्रों की मानें तो युवक के शव को ज्वलनशील पदार्थ से जलाने का प्रयास किया गया था । एस एच ओ रामायण सिंह ने बताया उसके पिता सत्यनारायण शर्मा की तहरीर पर हत्या का मुकदमा कायम कर इसके खुलासे के लिए पुलिस टीम लगा दी गयी है। बहुत जल्द इस हत्याकांड का  पर्दाफाश किया जाएगा।


पुनीत केशरी

No comments