Breaking News

Akhand Bharat

डिफाल्टर राइस मिलों को धान न दिया जाए-डीएम


 


बलिया।जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में राइस मिल मालिकों के साथ बैठक की।बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि जीतने भी राइस मिलर है उन्हें उनकी मिल की क्षमता के अनुसार ही धान दिया जाए।क्षमता से अधिक धान देने पर कार्य बढ़ जाता है जिससे वह समय से सीएमआर उपलब्ध नहीं करा पाते हैं।साथ ही उन्होंने कहा कि जो भी राइस मिल मालिक पूर्व में डिफाल्टर घोषित हो चुके है उन्हें धान न दिया जाए क्योंकि इनकी वजह से सरकार का नुकसान तो होता ही है साथ ही किसानों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। सीएमआर समय से उपलब्ध न होने से किसानों से धान क्रय करने में देरी हो जाती है जिससे उनका भारी नुकसान होता है।उन्होंने डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिया कि जिन मिलो को धन नहीं मिल पा रहा है उन्हें समय से धान उपलब्ध कराया जाए।जिलाधिकारी ने कहा कि गलती की कोई माफी नहीं है।उन्होंने इस बैठक को दुबारा बुलाने के लिए कहा और कहा कि इस बार केवल उन्ही मिल मालिकों से बात करेंगे जो एफसीआई को समय से सीएमआर उपलब्ध नही करा रहे है।अच्छा काम कर रहे राइस मिल मालिकों की उन्होंने सराहना की।


रिपोर्ट -त्रयंबक नारायण देव गांधी

No comments