Breaking News

Akhand Bharat

मां काली के पुजारी ने दी औषधियां और ठीक हो गया इंद्रजीत

 



बलिया:  इसे आश्चर्य ही कहेंगे कि जिस बीमारी का उपचार तो दूर चिकित्सा विज्ञान के बड़े-बड़े धुरंधर चिंह्नित नहीं कर पाए, वह बीमारी पकड़ी धाम स्थित मां काली के दरबार में हाजिरी लगाने और मंदिर के पुजारी रामबदन भगत द्वारा दिए गए फकिया, गोली और तेल के सेवन मात्र से ठीक हो गई.



जी हां, हम यहां बात कर रहे हैं बिहार प्रांत के  रोहतास जनपद अंतर्गत दिनारा थाना क्षेत्र के गडभडसरा गांव निवासी इंद्रजीत कुमार कुशवाहा पुत्र सत्यनारायण कुशवाहा की. जिसको करीब 4 साल पहले एक अजीबोगरीब बीमारी ने अपना शिकार बना लिया था, जिससे इंद्रजीत के हाथ पैर ने काम करना बंद कर दिया और वह बिस्तर पर ही पड़ा रहने लगा. यहां तक की खाना भी उसे उसके परिजनों द्वारा खिलाया जाता था जबकि शौच  आदि क्रिया भी वह बिस्तर पर ही करता था. इस बीमारी के उपचार के लिए वह रोहतास, पटना और वाराणसी के तमाम बड़े चिकित्सकों से मिला, लेकिन कहीं से उसे राहत नहीं मिली. एक दिन उसके किसी परिचित ने उसे फेफना थाना क्षेत्र के पकड़ी धाम स्थित काली मंदिर जाने और वहां मां के दरबार में अपनी अर्जी लगाने की बात कही. इसके बाद इंद्रजीत अपने परिजनों के साथ पकड़ी धाम पहुंचा और मां के दरबार में मत्था टेका तथा पुजारी रामबदन भगत से आपबीती बताई. उसकी बातों को सुनकर पुजारी ने उसे माँ का प्रसाद एवं फकीयां, गोली और तेल दिया तथा उसके नियमित सेवन की बात कही. इंद्रजीत बताता है कि इन औषधियों के सेवन से उसके शरीर में आश्चर्यजनक परिवर्तन देखने को मिला. उसके शरीर के अंगों में हरकत होने लगी और पूर्व की तरह हाथ पैर भी काम करने लगे. यहां तक कि अब वह चल फिर सकने में समर्थ हो गया.

डेस्क

No comments