Breaking News

Akhand Bharat

अक्सा सोसायटी की नेक पहल : सीएचसी रतसर के टीबी मरीजों को लिया गोद खाने पीन से लेकर देखरेख तक संभाला जिम्मा







रतसर (बलिया):जनपद को क्षयरोग मुक्त बनाने की दिशा में अलग- अलग संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने क्षय रोगियों को गोंद लिया है। केन्द्र सरकार ने वर्ष 2025 तक देश को टीबी रोग से मुक्त करने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए पूरे देश में अभियान चलाया जा रहे है। अभियान के तहत टीबी रोगियों की खोज से लेकर उनके उपचार पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसी अभियान के तहत अक्सा एजुकेशनल एण्ड सोशल वेलफेयर सोसायटी रतसर कला के तत्वाधान में बुद्धवार को आयोजित समारोह में स्थानीय सामुदायिक स्वा० केन्द्र के अन्तर्गत नगर पंचायत रतसर कला के सभी टीबी मरीजों को गोद लिया साथ ही पुष्टाहार कीट का वितरण भी किया। इस अवसर पर संस्था के संरक्षक एवं निवर्तमान ग्राम प्रधान  स्मृति सिंह ने बताया कि अक्सा संस्था की नींव मेरे माता- पिता के नाम पर है। मुझे खुशी है कि मुझे ये मौका अपने माता- पिता के शादी के वर्षगांठ के अवसर पर मिला। उन्होंने कहा कि सभी को बढ़-चढ़ कर इस पुनीत कार्य को करना चाहिए। ज्ञात हो कि स्मृति सिंह ने इसके पहले भी इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय को गोद लिया था। और विद्यालय के कायाकल्प से लेकर प्रत्येक कार्य उन्होंने स्वयं से किया था। अधीक्षक डा० राकिफ अख्तर ने बताया कि देश को टीबी मुक्त करने के लिए सभी का योगदान जरूरी है। सरकारी कर्मचारी,अधिकारियों के साथ ही स्वंयसेवी संस्थाएं टीबी रोगियों को गोद लेकर उनके उपचार और पुष्टाहार की जिम्मेदारी उठाएं तो पोलियो की तरह जल्द ही देश टीबी संक्रमण के रोग से भी मुक्त हो जाएगा। उन्होंने कहा कि क्षय रोगी नियमित रूप से दवा लेते रहें,इसके लिए उन्हें देखभाल और प्रेरित करते रहने की जरूरत होती है। विभाग क्षय रोगियों को नि :शुल्क उपचार उपलब्ध कराता है और साथ ही सरकार की ओर से हर माह निक्षय पोषण योजना के तहत पांच सौ रुपए का भुगतान भी किया जाता है। यह राशि मरीज के खाते में सीधे ट्रांसफर की जाती है। इस अवसर पर डा०अमित कुमार,डा०एन.के पाण्डेय, एसटीएस अमित कुमार, अरुण शर्मा,संस्था की तरफ से मुक्तानन्द सिंह, तृप्ति सिंह,दीप्ति सिंह मौजूद रहे।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments