Breaking News

Akhand Bharat

1857 की क्रांति के अग्रदूत शहीद मंगल पांडेय की जयंती को उत्सव के रूप में मनायेगा बलिया जिला प्रशासन

 



रिपोर्ट : धीरज सिंह


- *जिलाधिकारी ने प्रेसवार्ता कर दी कार्यक्रमों की जानकारी*


बलिया: जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने कहा कि 19 जुलाई को शहीद मंगल पांडेय की जयंती धूमधाम से मनाई जाएगी। कलेक्ट्रेट सभागार में सोमवार को प्रेस वार्ता कर उन्होंने कार्यक्रम की रूपरेखा की पूरी जानकारी दी।


     उन्होंने बताया कि मंगल पांडेय जी की जयंती पर 19 जुलाई को सुबह 7:30 बजे से उनके पैतृक गांव नगवा में प्रभात फेरी निकाली जाएगी। उसके बाद 9:30 से 10:30 बजे तक मंगल पांडे चौराहा से टाउन हॉल तक रैली निकलेगी टाउन हॉल में भाषण प्रतियोगिता का आयोजन होगा। इसके अलावा कदम चौराहा, भृगु आश्रम तिराहा, शहीद स्मारक स्थल एवं टाउन हॉल में नुक्कड़ नाटक का भी आयोजन होगा।


*सांस्कृतिक कार्यक्रम में लोकगीत प्रस्तुत करेंगे गोपाल राय*


मंगल पांडे की जयंती पर आज (मंगलवार को) बहुउद्देश्यीय सभागार में दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा। इसमें लोकगीत गायक गोपाल राय व गायक रामकृपाल मंगल पांडे की वीरता पर आधारित गीत प्रस्तुत करेंगें। फौजदार सिंह देश भक्ति गीत प्रस्तुत करेंगे। राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय द्वारा शहीद मंगल पांडे पर आधारित नाटक का मंचन किया जाएगा। सभी कार्यक्रमों के लिए उन्होंने अलग-अलग अधिकारियों को जिम्मेदारी दे दी है।


*बसंतपुर में कूड़ा निस्तारण केंद्र शुरू कराने का दिया भरोसा*


बसंतपुर में लंबे समय से निर्माणाधीन कूड़ा निस्तारण केंद्र से जुड़े सवाल के जवाब में जिलाधिकारी ने कहा कि इस संज्ञान में लेते हुए कूड़ा निस्तारण केंद्र को चालू कराने की पहल होगी। स्वच्छता के लिहाज से यह महत्वपूर्ण कार्य है। इस केंद्र के निर्माण में जो भी बाधा होगी, उसे दूर कराकर चालू कराने की हरसम्भव कोशिश होगी।


*प्लास्टिक पर रोकथाम जागरूकता अभियान में भागीदारी की अपील*


प्लास्टिक पर रोकथाम के लिए चलाए जा रहे जागरूकता अभियान में भी अपनी भागीदारी सुनिश्चित कराने की अपील की। बताया कि इसके लिए एक मुहिम चलाई जा रही है, जिसके अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय के बच्चे अपने घर से एक प्लास्टिक जरूर लेकर स्कूल आएंगे। उस प्लास्टिक को इकट्ठा कर निस्तारण के लिए औद्योगिक आस्थान भेज दिया जाएगा। इस प्रकार जरूर सिंगल यूज़ प्लास्टिक कम होगी।

No comments