Breaking News

Akhand Bharat

हत्या की सूचना पर हलकान रही पुलिस, जाने क्या है पूरा मामला



मनियर, बलिया। थाना क्षेत्र के किसुनीपुर गांव में मंगलवार की सुबह  70 वर्षिय वृद्ध की सधारण हुई  मौत को किसी ने  हत्या  की गलत सूचना डायल  112  पर दी, जिससे मनियर पुलिस दिनभर हलकान रही. जब इसकी जांच पड़ताल की गई तो मामला झूठा निकला। फिर भी पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजदिया ।घटना की चर्चा दिन भर हवा मे तैरती रही ।  बताया जाता है कि जनपद मऊ  के मधुबन थाना  क्षेत्र के कैथवली गावं निवासी शुभनरायन तिवारी अपने 70 वर्षिय  पिता राजेंद्र तिवारी व पत्नी के साथ मनियर थानाक्षेत्र के  किसुनीपुर गावं निवासी हरेकृष्ण पाण्डेयके यहा ससुराल मे नवर्सा पर कई वर्षो से रहते है.


मंगलवार की सुबह  राजेन्द्र तिवारी  70 वर्ष  की तबीयत खराब होने पर  पिता को शुभ नारायण तिवारी   लेकर मऊ इलाज कराने जा रहे थे कि मनियर थाना क्षेत्र के बहादुरा चट्टी पर उनकी मौत करीब 10:30 बजे दिन में  हो गई ।उनके शव को लेकर उनका लड़का ससुराल किसुनीपुर वापस  पहुंचा। इसी बीच किसी ने परेशान करने की नियत से हंड्रेड डायल 112  पर फोन कर सूचना दिया कि मारपीट में एक व्यक्ति की मौत हो गई है। जब हंड्रेड डायल पुलिस मौके पर पहुंची तो सूचना देने वाले ने अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर दिया। हत्या की सूचना जंगल में आग की तरह फैल गई।सुचना पर पहुची मनियर पुलिस ने  फिर राजेंद्र तिवारी को मनियर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजने की कार्रवाई में जुटी हुई है। 


सीओ बांसडीह राजेश कुमार तिवारी तथा एसएचओ मनियर कमलेश कुमार पटेल ने हॉस्पिटल पर पहुंचकर मौका मुआयना किया । इस संदर्भ में सीओ बांसडीह राजेश कुमार तिवारी ने बताया कि किसी ने पुलिस को परेशान करने की नियत से गलत सूचना दिया था । मृतक की उम्र करीब 70-75वर्ष  होगी। वृद्धा अवस्था के कारण वह सुख गया था ।उसके शरीर पर किसी प्रकार के चोट के निशान नहीं थे। मैं मौके पर पहुंचा था।फिर भी  शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है ।पोस्टमार्टम बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। परिजनों ने बताया कि मृतक कुछ मानसिक रूप से विक्षिप्त भी था।



रिपोर्ट# प्रदीप कुमार तिवारी

No comments