Breaking News

Akhand Bharat

बलिया में गंगा ने धरा रौद्र रुप तो पलायन को मजबूर हुए लोग

 


रिपोर्ट : धीरज सिंह


बलिया। पहाड़ी इलाकों में बादल फटने से हुई बारिश का असर अब बलिया के मैदानी क्षेत्रों में दिखाई देने लगा है। परिणाम स्वरुप बलिया जिले में प्रवाहित हो रही गंगा नदी के जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि जारी है। जिसके कारण गंगा  लाल निशान पार करते ही मीडियम फ्रॉड लेबल की ओर बढ़ चला है। शनिवार के दिन ग्राम पंचायत गोपालपुर के ग्राम उदयीछपरा, दुबे छपरा गोपालपुर में पूर्व में कराए गए कटानरोधी कार्य के नीचे से गंगा का पानी का बहाव हरिजन बस्ती की ओर जाना शुरू हो गया है, इससे हरिजन बस्ती के लोग पलायन को मजबूर होने लगे हैं। गांव में पानी फैलने की सूचना पर उप जिलाधिकारी बैरिया अत्रे मिश्रा ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने का निर्देश दिया।

 गंगा के जलस्तर में लगातार वृद्धि होने के कारण गंगा का पानी तटीय इलाके के निचले हिस्से में फैलने से उदई छपरा हरिजन बस्ती में भगदड़ मच गई है ।लोग अपने घरों से सामान निकाल एनएच 31 की ओर रुख कर दिया है।  गांव के सुनील उपाध्याय, बैजनाथ सिंह, परशुराम, जय प्रकाश, कलावती जयप्रकाश राम संतोष राम धनजी राम सोना देवी आदि लोग अपना सामान समेटकर सुरक्षित स्थानों की ओर पलायन कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ दुबे छपरा में हुए कटान रोधी कार्य के बगल में गंगा की बैंक रोल धारा का दबाव होने से किनारे पर कटान प्रारंभ हो गया है। हालांकि बाढ़ खंड के लोग उक्त स्थान पर मिट्टी से भरी बोरी डालकर कटान को रोकने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन देर शाम तक कोई सफलता नहीं मिल सकी। रुक-रुक हो रही वर्षा के कारण भी कटान पीड़ित  की समस्या कम होने के बजाय बढ़ाने लगा है केंद्रीय जल आयोग गायघाट के अनुसार गंगा का जलस्तर शनिवार की दोपहर 12:00 बजे 58.140 मीटर दर्ज की गई साथ ही प्रति घंटा 2 सेंटीमीटर का बड़ाव बना हुआ है।रामगढ़ उप जिलाधिकारी बैरिया अत्रे मिश्र ने कटान पीड़ित ग्राम दुबे छपरा का अवलोकन कर स्थिति का जायजा लिया तथा बाढ़ चौकी स्थापित करने का निर्देश दीया। उसके बाद क्षेत्रीय लेखपाल राम प्रकाश सिंह ने दुबे छपरा स्थित हनुमान मंदिर के समीप बाढ़ चौकी को स्थापित करने में जुट गए है।

No comments